Pakistan News

अब्दुल बासित को महंगा पड़ा एडल्ट फिल्म स्टार को 'कश्मीरी' बताना, जॉनी सिन्स ने दिया मजेदार जवाब

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

जम्मू कश्मीर से बीते महीने अनुच्छेद 370 हटाए जाने और राज्य को दो हिस्सों में बांटे जाने के बाद से पाकिस्तान पूरी तरह से बौखलाए हुआ है, जिसके चलते वो काफी बार अपनी फजीहत भी करा चुका है। लेकिन हमारे पड़ोसी देश कि बौखलाहट इस कदर बढ़ गई है कि वो किसी भी तरह से अंतराष्ट्रिय मंच से भारत की बेइज्जती करने की नाकाम कोशिश में लगा रहता है। चाहे उसके लिए फर्जी खबरों का सहारा ही क्यों ना लेना पड़े।

इसी कड़ी में भारत में पाक के राजदूत रहे अब्दुल बासित ने एडल्ट फिल्म स्टार जॉनी सिन्स ने तस्वीर शेयर करते हुए उन्हें 'भारतीय सेना की पिटाई का शिकार' हुए युवक के तौर पर पेश करने की कोशिश की थी। जिसके बाद देखते ही देखते यह ट्वीट तेजी से वायरल हो गया और लोगों ने बासित को जमकर ट्रोल किया।

अब जब मामला इतना बड़ा हो गया तो जॉनी सिन्स खुद कैसे इस मौके को हाथ से जाने देते। उन्होंने अब्दुल बासित के जले पर नमक छिड़कते हुए लिखा कि मैं आपको धन्यवाद देता हूं कि आपके चलते मेरे फॉलोअर्स बढ़ गए हैं।

यह भी पढ़ें - PAK सांसद की घिनौनी करतूत को J&K पुलिस ने किया बेनकाब, घाटी में फर्जी खबर फैलाने को लेकर Twitter से की शिकायत

बता दें, इससे पहले मंगलवार को अब्दुल बासित ने मंगलवार को  जॉनी सिन्स की कश्मीरी युवक होने वाली पोस्ट को रिट्वीट किया था, लेकिन जब अपनी गलती का एहसास हु्आ तो उन्होंने ट्वीट डिलीट कर दिया, लेकिन जबतक बहुत देर हो चुकी थी। पाकिस्तान की तरह से कश्मीर के खिलाफ झूठ फैलाने की पहली कोशिश नहीं है। इससे पहले भी कई मौकों पर वो झूठी तस्वीरों, झूठी वीडियो और फर्जी खबरों के जरिए भारत के खिलाफ जहर घोलने का काम करते रहे हैं। लेकिन हर बार इसे मुंह की खानी पड़ी है। 

बता दें, जबसे कश्मीर में मोदी सरकार ने धारा 370 हटाने का ऐलान किया है, खासतौर पर  माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर तभी से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई समर्थित कुछ ट्वीटर हैंडल ने कश्मीर को लेकर भारत के खिलाफ फेक न्यूज फैलाने की मुहिम छेड़ रखी है। पूरी दुनिया इस वक्त कश्मीर का सच देख रही है और पाकिस्तान का झूठ बेनकाब हो रहा है। कश्मीर पर पाकिस्तान की झूठ वाली दुकान सिर्फ बंद नहीं हुई.. बल्कि तोड़ दी गई और दुनिया भर में मार खाने के बाद पाकिस्तान प्रोपेगेंडा को हथियार बना लिया। हिंदुस्तान में उन लोगों को निशाने पर लेने लगा, जो राष्ट्र की बात करते हैं।