Politics

कर्नाटक में गहराया राजनीतिक संकट, कांग्रेस-JDS के 11 विधायकों ने दिया इस्तीफा

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

कर्नाटक में जेडीएस कांग्रेस सरकार पर राजनीतिक संकट गहरा गया है। कांग्रेस और जेडीएस के 11 विधायकों के इस्तीफे के बाद अब कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई है। इन 11 विधायकों के इस्तीफे की खबर की पुष्ठि विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने की। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस- जद (एस) के 11 विधायकों ने मेरे कर्यालय में इस्तीफा सौंप दिया है। 

कर्नाटक विधानसभा में अभी 224 सीटें हैं, जिसमें बीजेपी के 104 विधायक हैं। जबकि कांग्रेस के 78 और 37 विधायक जेडीएस के हैं जबकि एक विधायक बीएसपी का है।

कांग्रेस के रामलिंगा रेड्डी ने पुष्टि की है कि उन्होंने कर्नाटक की ढहती सरकार के बीच राज्य विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार को अपना इस्तीफा सौंप दिया। सात बार के कांग्रेस विधायक, रामलिंग रेड्डी ने इस्तीफे की पुष्टि की और असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वह कुछ मुद्दों पर 'उपेक्षित' महसूस कर रहे थे।

इसके अलावा कहा गया है कि उनकी बेटी (कांग्रेस विधायक सौम्या रेड्डी) अपना फैसला खुद करेगी।

आठ विधायकों के इस्तीफे के बाद अब कांग्रेस जेडीएस के विधायकों की संख्या 116 से घटकर 108 रह गई है। जबकि बहुमत के लिए 112 विधायक चाहिए, ऐसे में अगर ये विधायक बीजेपी के पाले में जाते हैं तो कर्नाटक में एक बार फिर बीजेपी सरकार बना सकती है। 

वहीं कुमारस्वामी के कैबिनेट डीके शिवकुमार ने कथित तौर पर बेंगलुरु में राज्य विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार के कक्ष के अंदर चार मंत्रियों के त्याग पत्र को फाड़ दिया। डीके शिवकुमार ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए रामलिंग रेड्डी, बसवराज रायारेड्डी, मुनिरथना और एस टी सोमशेखर सहित वरिष्ठ नेताओं के साथ बातचीत करने की कोशिश की।

बीजेपी ने इस प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कर्नाटक के लोगों द्वारा कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन को खारिज कर दिया गया है। बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा कि लोकसभा चुनावों में गठबंधन के बावजूद, भाजपा ने भारी जनादेश हासिल किया। यह स्पष्ट रूप से लोगों के मूड को दर्शाता है। विधायक निश्चित रूप से गठबंधन के खिलाफ जनता के गुस्से का खामियाजा भुगत रहे हैं।

 

DO NOT MISS