General News

नरेंद्र मोदी या राहुल गांधी : जानें पीएम उम्मीदवार को लेकर जनता की पहली पसंद

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

केंद्र शासित प्रदेश  8 -  दादर और नागर हवेली

 सी वोटर के सर्वे में  दादर और नागर हवेली लोकसभा चुनाव में बीजेपी को एक बार फिर से जीत मिलेगी. 2014 में भी ये सीट बीजेपी के पास थी. 

केंद्र शासित प्रदेश 9- दम एंड दीव 

 सी वोटर के सर्वे में दमन एंड दीव की 1 सीट बीजेपी के खाते में जाएगी. 2014 में भी ये सीट बीजेपी के ही पास थी. 

राज्य 10 - दिल्ली (7 )

दिल्ली की बात करें तो दिल्ली में लोकसभा की सात सीटें हैं. फिलहाल इन सातों सीटों पर भारतीय जनता पार्टी की के सांसद है. साल 2014 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी और आम आदमी पार्टी को इन सातों सीटों पर करारी हार का सामने करना पड़ा था. 

CVoter के मुताबिक इस बार भी बीजेपी को सातों सीटों पर जीत मिलेगी. 

वहीं कांग्रेस को इस बार भी इन सातों सीटों पर हार का सामना करना पड़ेगा. CVoter के मुताबिक कांग्रेस के वोट शेयर में बढ़ोतरी है. जहां 2014 में कांग्रेस को 15.1 वोट शेयर मिले थे वहीं इस बार कांग्रेस को 28 प्रतिशत वोट शेयर मिलने की उम्मीद जताई गई है. जो पहले के मुकाबले 12.9 प्रतिशत बढ़ा है.

राज्य 11 - गोवा (2)

 सी वोटर के सर्वे में गोवा की दो सीटों में से बीजेपी और कांग्रेस को 1-1 सीट मिलेगी.

राज्य 12 - गुजरात  (26)

गुजरात  में एक बार फिर से गुजरात में बीजेपी को बहुमत मिलेगा. कांग्रेस के खाते में सिर्फ दो सीटें ही आएंगी. बता दें, गुजरात की कुल 26 सीटों में से बीजेपी को 24 सीटें मिलेंगी. 

राज्य 13 - हिमाचल प्रदेश (4)

यहां  हिमाचल प्रदेश में बीजेपी राज्य की सभी चार सीटों को जीत सकती है.

राज्य 14- जम्मू-कश्मीर (6 )

 जम्मू-कश्मीर में UPA 4 सीट जीत सकती है. वहीं NDA के खाते में सिर्फ दो सीट आ सकती है.

राज्य 15- हरियाणा (10)

हरियाणा  में रिपबिल्क टीवी और सी वोटर के सर्वे में नरेंद्र मोदी पीएम पद की ले लिए पहली पसंद हैं. नरेंद्र मोदी को 38.7 फीसदी जनता और राहुल गांधी को 33.6 फीसदी जनाता पीएम उम्मीदवारी के तौर पर पसंद करती है. 

10 लोकसभा सीटों वाले हरियाणा में  C VOTER के ओपिनियन पोल में  बीजेपी को 6, कांग्रेस को 3 और अन्य को 1 सीटें मिलती दिख रही हैं.

राज्य 16- झारखंड (14)

झारखंड में रिपबिल्क टीवी और सी वोटर के सर्वे में नरेंद्र मोदी पीएम पद की ले लिए पहली पसंद हैं. नरेंद्र मोदी को 42.3 फीसदी जनता और राहुल गांधी को 39 फीसदी जनाता पीएम उम्मीदवारी के तौर पर पसंद करती है. 

सर्वे के मुताबिक झारखंड में NDA को 8 तो UPA को 5 सीटें मिलने का अनुमान है.

सीट शेयर PROJECTION:

UPA=5

NDA=8

JVM=1

OTHERS-2=0

वोट शेयर PROJECTION:

UPA=39.0

NDA=42.3

JVM=6.7

OTHERS-2=12.0


राज्य 17 -  कर्नाटक (28)

दक्षिण भारत के सबसे महत्वपूर राज्य कर्नाटक, जहां साल की शुरूआत में हुए विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी होने के बाबजूद भी सत्ता में नहीं आ पाई और यही वो राज्य जहां से कांग्रेस जनता दल सेक्यूलर के गठबंधन वाली सरकार से महागठबंधन की नींव रखी गई. लेकिन अभी अगर लोकसभा चुनाव हो तो बीजेपी को एक सीट का फायदा मिल सकता है. 

अभी चुनाव होने पर अनुमान है कि भाजपा को कर्नाटक में 28 सीटों में से 18 सीटें मिलेंगी, जबकि कांग्रेस को 2 सीट को घाटे के साथ 7 सीट मिल सकती हैं. हालांकि जेडीएस को सत्ता में होने के बाद कुछ खास फायदा होता नहीं दिख रहा है.  अनुमान के मुताबिक जेडीएस के 2014 के मुकाबले दो सीट का फायदा होता दिखा रहा है. 

यह महत्वपूर्ण है कि यह महत्वपूर्ण है कि कर्नाटक में कांग्रेस ने 3.8% वोट खो दिया है, जेडीएस ने 2.4% की कमाई की है जिसका मतलब है कि राज्य स्तर पर सहयोगी होने के बावजूद, जेडीएस और कांग्रेस का वोटशेयर के लिए एक दूसरे से संघर्ष जारी है जिसके चलते बीजेपी को फायदा हो रहा है.

राज्य की 28 लोकसभा सीटों में से NDA को 18. UPA को 7. वहीं कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी की पार्टी JDS को सिर्फ 3 सीटें मिलेंगी. 

राज्य 18- केरल 
राजनीतिक रूप से महत्तवपूर्ण केरल में लोकसभा के 20 सीटों के लिए मुख्यता कांग्रेस और एलडीए में जग दिखाई देती है. बीजेपी को इस बार भी यहां से निराश लग सकती है.  कांग्रेस और यूडीएफ गठबंधन को बड़ा फायदा मिलता हुआ दिखा रहा है, जहां साल 2014 में कांग्रेस गठबंधन को 12 सीट मिल थी वहीं अब चुनाव होने पर उसे 16 सीट मिल सकती हैं. 

आरएसएस और वामपंथी के बीच चरम और हिंसक ध्रुवीकरण के बावजूद भी बीजेपी के खाते में कोई सीट जाती नहीं दिख रही और बल्कि उसके वोटशेयर में भी गिरावट देखी जा ही है. लेकिन सबसे बड़ा झटका तो एलडीएफ के लिए है जिसको 2014 में 6 सीटों पर जीत मिली थी लेकिन अब उसे 2 सीट का नुकसान होता दिख रहा है.


यह भी ध्यान रखना दिलचस्प है कि पूरे कांग्रेस और एलडीएफ वोटशेयर के मामले में 2 से 5% तक लाभ मिल रहा है


केंद्र शासित प्रदेश 19 -  लक्षद्वीप (1)

लक्षद्वीप में एक सीट प्रतियोगिता पूरी तरह से 2014 वाली रहेगी. इस सीट पर 2014 पर कांग्रेस को जीत मिल थी  और अब चुनाव होने पर कांग्रेस को फिर ये सीट मिल सकती है. 

आकंड़े में एक बात गौर करने वाली  है कि बीजेपी के वोटशेयर में 2014 के मुकाबले बढ़ोतरी देखी गई है. हालांकि कांग्रेस और एनसीपी को वोटशेयर में नुकसान होता दिख रहा है. हालांकि, आईएनसी वोटशेयर में 3.4% की कमी आई है और एनसीपी के वोटशेयर में 7.6% की गिरावट आई है.


राज्य 20-  मध्य प्रदेश (29)


मध्य प्रदेश में मतदान भाजपा के लिए चिंताओं बढ़ सकता है. 2014 में राज्य में बीजेपी में 29 सीटों में से 27 सीटें मिली थी, लेकिन अब उसे केवल 29 सीटों में से 23 सीटें मिलती दिख रही हैं.

जबकि इसके उल्ट कांग्रेस पार्टी को 2014 के मुकाबले 4 सीटों का फायदा होता दिखा रहा है. कांग्रेस को 2014 में 2 सीट मिली थी. अब उसे 6 सीट मिलने का अनुमान है. 

लेकिन 2003 से राज्य की सत्ता पर काबिज बीजेपी को उतना ज्यादा घाटा होता नहीं दिख रहा है.  


लेकिन विरोधी तस्वीरों के ढेर के बावजूद इस तस्वीर को एक मैक्रो स्तर पर दिया गया है, बीजेपी मध्यप्रदेश के माध्यम से आधा रास्ते से परे पूरी तरह से मिलकर अच्छी तरह से चल रही है।


इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि कांग्रेस के वोटशेयर में 7 % की बढ़ोतरी देखी गई है, लेकिन सी वोटर के अनुमान के अनुसार कांग्रेस की 4 सीट और जीतने की संभावना के बावजूद शिवराज सरकार को मंदसौर घटना, व्यापम घोटला, जैसे मुद्दे पर ज्यादा हानि नहीं हो रही है. 

इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि भोपाल में प्रधान मंत्री मोदी ने सितंबर के आखिरी सप्ताह में एक कार्यकर्ता महाकुंभ रैली को संबोधित किया था, वहां से उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला था.


राज्य 21: महाराष्ट्र

महाराष्ट्र राज्य में 48 लोकसभा सीटें हैं. बीजेपी, कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच सत्ता को लेकर मुकाबला है और राज्य में अभी तक 201 9 के लिए कोई गठबंधन नहीं किया है, तो यहां अनुमान हैं:


कुल मिलाकर, साल 2014 में एनडीए गठबंधन को 42 सीट मिली थी जिसमें से शिवसेना के हिस्से में 18 सीट आई थी अब जब शिवसेना ने लोकसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन से अलग लड़ने के ऐलान के बाद महाराष्ट्र में एनडीए के पास 22 सीटें रह गई हैं. 


गठबंघन ना होने की वजह से शिवसेना को करीब 7 सीटों का नुकसान हो सकता है. 


शरद पवार की पार्टी को 2014 में 4 सीटें मिली थी, लेकिन अब चुनाव होने पर वो 8 सीट जीत सकते हैं. 


अगर आकंड़ों की माने तो शिवसेना को गठबंधन ना होने का भारी खमियाज उठाना पड़ सकता है.

राज्य 22 - मणिपुर (2)

मणिपुर  में रिपबिल्क टीवी और सी वोटर के सर्वे में नरेंद्र मोदी पीएम पद की ले लिए पहली पसंद हैं. नरेंद्र मोदी को 42.7 फीसदी जनता और राहुल गांधी को 24.7 फीसदी जनाता पीएम उम्मीदवारी के तौर पर पसंद करती है. 

10 लोकसभा सीटों वाले मणिपुर में  C VOTER के ओपिनियन पोल में  2 सीटों में से दोनों भाजपा की झोली में जा सकती हैं.

राज्य 23- मेघायल (2)

मेघालय  में रिपबिल्क टीवी और सी वोटर के सर्वे में नरेंद्र मोदी पीएम पद की ले लिए पहली पसंद हैं. नरेंद्र मोदी को 39.2 फीसदी जनता और राहुल गांधी को 23.8 फीसदी जनाता पीएम उम्मीदवारी के तौर पर पसंद करती है. 

मेघालय की दो सीटों में से एक सीट पर UPA तो एक सीट पर NDA को जीत मिलेगी. 

राज्य 24 - नागालैंड (1)

नागालैंड की एक मात्र सीट NDA के पास रहेगी. NPF ने इस सीट पर साल 2014 में कब्जा किया था. 

राज्य 25 मध्यप्रदेश(29)

सर्वे के अनुसार मध्य प्रदेश की 29 सीटों में से बीजेपी को 23 सीटें मिलने का अनुमान है.  

सीट शेयर PROJECTION:

UPA=6

NDA=23

OTHERS=0

वोट शेयर PROJECTION:

UPA=42.0

NDA=49.4

OTHERS=8.6

राज्य 26- पंजाब (13)

पंजाब में NDA को होगा भारी नुकसान, पंजाब की 13 लोकसभा सीटों में से NDA को 1, UPA को मिल सकती है 12 सीटें.

 

राज्य- ओडिशा​​​​​​​(21 )

ओडिशा​​​​​​​ में बीजेपी को बीजेडी के बीच कांटे की टक्कर है. लेकिन नरेंद्र मोदी को यहां 39.6 जनता और राहुल गांधी को 23.5 जनता पीएम उम्मीदवार के तौर पर पसंद करती है. 

ओडिशा की 21 सीटों में बेजीपी को 13 सीटें और बीजेडी को 6 तो कांग्रेस को 2 सीटें मितली सकती है. 

राज्य - राजस्थान

 NDA को 18 सीटें, वहीं UPA को 7. बता दें, पहले के मुकाबले NDA की सीटें कम हो रही हैं.

सीट शेयर PROJECTION:

UPA=7

NDA=18

OTHERS=0

वोट शेयर PROJECTION:

UPA=42.9

NDA=47.1

OTHERS=10.1

 

राज्य - तेलंगाना: 

तमिलनाडु की 39 सीटों में से DMK को 28 सीटें मिल सकती हैं. वहीं AIADMK को 9, UPA को 0, तो NDA के खाते में मात्र 2 सीट आ सकती है.

सीट शेयर PROJECTION:

UPA=0

NDA=2

DMK=28

AIADMK=9

वोट शेयर PROJECTION:

UPA=3.7

NDA=8.8

DMK=39.4

AIADMK=23.5

OTHERS=24.7

राज्य - पुडुचेरी

पुडुचेरी की एक मात्र सीट UPA के खाते में जाएगी.

 

राज्य - महाराष्ट्र

 UPA -11, NDA 22, NCP 8, शिवसेना 7. 

महाराष्ट्र में 48 लोकसभा सीटें हैं. बीजेपी, कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच सत्ता को लेकर मुकाबला है और राज्य में अभी तक 2019 के लिए कोई गठबंधन नहीं किया है, तो यहां अनुमान हैं:

कुल मिलाकर, साल 2014 में एनडीए गठबंधन को 42 सीटें मिली थी जिसमें से शिवसेना के हिस्से में 18 सीट आई थी वहीं अब जब शिवसेना ने लोकसभा चुनाव में एनडीए गठबंधन से अलग लड़ने का ऐलान किया है उसके बाद महाराष्ट्र में एनडीए के पास 22 सीटें रह गई हैं. 

शरद पवार की पार्टी को 2014 में 4 सीटें मिली थी, लेकिन अब चुनाव होने पर वो 8 सीट जीत सकते हैं. 

DO NOT MISS