UK News

ब्रेक्जिट समझौता: टेरेसा मे ने सांसदों से की मिलकर काम करने की अपील

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री के खिलाफ बुधवार को संसद में लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर जाने के बाद टेरेसा मे ने सांसदों से अपील की कि वे अपने ‘‘निजी हितों को दरकिनार’’ कर ब्रेक्जिट के लिए ‘‘मिलकर रचनात्मक तरीके से काम’’ करें.

325 सांसदों ने उनकी सरकार का समर्थन किया जबकि 306 सांसदों ने संसद में लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया. मे 19 मतों के अंतर से जीत गईं. इससे पहले उनकी सरकार को यूरोपीय संघ से बाहर जाने के लिए ब्रेक्जिट समझौते को लेकर संसद में ऐतिहासिक हार का सामना करना पड़ा था.

अविश्ववास प्रस्ताव गिरने के बाद मे ने 10 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर कहा कि सरकार ने संसद में विश्वास जीत लिया गया है. 

उन्होंने कहा कि अब ‘‘हम सब को ब्रेक्जिट पर आगे काम करने पर ध्यान केंद्रित करना‘‘ चाहिए.

मे ने कहा, ‘‘ब्रितानी लोग चाहते हैं कि हम ब्रेक्जिट समझौता जल्द से जल्द कर लें और उनसे जुड़े अन्य महत्वपूर्ण मामलों पर भी ध्यान दें.’’ 

उन्होंने कहा कि अब ‘‘निजी हितों को दरकिनार’’ करने का समय आ गया है.

मे ने कहा, ‘‘अब सांसदों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वे क्या नहीं चाहते. हम सब को यह तय करने के लिए रचनात्मक तरीके से मिलकर काम करना चाहिए कि संसद क्या चाहती है.’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ इसलिए मैं आगे की ऐसी राह तलाशने के लिए सभी दलों के सांसदों को मिलकर काम करने के लिए आमंत्रित करती हूं, जिसे लोकमत और संसद का समर्थन हासिल हो.’’ 

मे ने कहा कि उनका मानना है कि ब्रिटेन के लोगों के यूरोपीय संघ छोड़ने के निर्देश को मानना उनका कर्तव्य है. 

उन्होंने उनकी योजनाओं पर पुन: मतदान के लिए सोमवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में फिर से आने का वादा दोहराया.

बता दें,  ब्रिटेन 1973 में 28 सदस्यीय यूरोपीय संघ का सदस्य बना था. उसे 29 मार्च को ईयू से अलग होना है. ईयू से अलग होने की तारीख आने में केवल दो महीने बचे हैं, लेकिन ब्रिटेन अभी तक यह निर्णय नहीं ले पाया है कि उसे क्या करना है.

बेक्जिट के समर्थक और ब्रिटेन के ईयू में बने रहने के समर्थक दोनों विभिन्न कारणों से इस समझौते का विरोध कर रहे है. कई लोगों को आशंका है कि बेक्जिट के कारण ब्रिटेन के यूरोपीय संघ के साथ व्यापार संबंध बिगड़ सकते हैं.

DO NOT MISS