Rest Of The World News

नतीजों से पहले कांग्रेसी नेताओं ने मानी हार, "दिल्ली में कांग्रेस नेतृत्वहीन, AAP को मिलेगा प्रचंड बहुमत"

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों पर मतदान संपन्न हो गया है और अब सभी को 11 फरवरी का इंतजार है। जब नतीजें आएंगे तो पता चलेगा की दिल्ली का असली बादशहा कौन होगा। लेकिन नतीजों से पहले कांग्रेस ने घुटने टेक दिए हैं। दिल्ली चुनावों में हार को स्वीकार करते हुए, कांग्रेस नेताओं केटीएस तुलसी और तारिक अनवर ने माना है कि केजरीवाल को मुख्यमंत्री के रूप में फिर से चुना जाएगा। इसके अलावा, केटीएस तुलसी ने कहा कि बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस ने दिल्ली में सक्रिय रूप से प्रचार नहीं करके AAP के लिए बलिदान दिया था। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सबक सीखा है और महसूस किया है कि नफरत की राजनीति नहीं जीत सकती।

कांग्रेस ने दिल्ली में मानी हार

तारिक अनवर ने एएनआई से कहा, "ऐसा लग रहा है कि दिल्ली में AAP की सरकार बनेगी। सभी एग्जिट पोल के मुताबिक ऐसा लग रहा है कि केजरीवाल वापस लौट आएंगे।" केटीएस तुलसे ने कहा, "कांग्रेस ने चुनाव प्रचार की प्रक्रिया में समान बल न लगाकर एक बलिदान किया। अगर हमने और अधिक प्रचार किया होता, तो इससे वोटों का विभाजन हो सकता था - ऐसे में भाजपा निश्चित रूप से जीत जाती।"

कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में विकास के एजेंडे को आगे रखा जिस पर जनता ने अपनी मुहर लगा दी है।

बीजेपी ने एक्जिट पोल को नकारा

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने चुनाव बाद के सर्वेक्षणों (एग्जिट पोल) को नकारते हुए शनिवार को दावा किया कि भाजपा दिल्ली विधानसभा चुनाव में 48 सीट जीतेगी। वहीं, पार्टी के एक शीर्ष नेता ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज देर शाम दिल्ली के सातों लोकसभा सांसदों और अन्य नेताओं से मिल सकते हैं।

यह भी पढे़ - #RepublicExitPoll | एग्जिट पोल में आप को बहुमत, बीजेपी को 9 से 21 सीटें मिलने का अनुमान

उन्होंने कहा, ‘‘शाह 70 विधानसभा सीटों पर मतदान के बारे में फीडबैक लेने के लिए सांसदों और अन्य नेताओं से मिलेंगे।’’ तिवारी ने ट्वीट किया कि एग्जिट पोल ‘‘फेल’’ होंगे। भाजपा 48 सीट जीतेगी और दिल्ली में सरकार बनाएगी...कृपया ईवीएम पर आरोप मढ़ने का बहाना न ढूंढ़ें। दिल्ली विधानसभा चुनाव के आज शाम आए एग्जिट पोल से संकेत मिलता है कि सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी भाजपा के संभावित उभार के बावजूद आसानी से जीत हासिल करेगी। वहीं तकरीबन सभी एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी (आप) की बड़ी जीत का अनुमान लगाया गया है।  

‘रिपब्लिक टीवी’ के एग्जिट पोल बात आप 48-61, भाजपा 9-21 और कांग्रेस 0-1 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है। आप ने 2015 में शानदार जीत दर्ज कर दिल्ली विधानसभा की 70 में से 67 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जबकि भाजपा को तीन सीटों से ही संतोष करना पड़ा था।