Rest Of The World News

कोरोना से निपटने के लिए अन्य देशों की सहायता पर गुटेरेस ने भारत को किया सलाम

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

कोविड-19 महामारी के खिलाफ जारी वैश्विक लड़ाई में अन्य देशों की मदद करने वाले देशों को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेस ने सलाम किया है। गुतारेस का यह बयान ऐसे समय आया है जब हाल ही में भारत ने अमेरिका समेत कई देशों को कोरोना वायरस संक्रमण का संभावित उपचार मानी जा रही मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन की आपूर्ति की थी।

अमेरिका का खाद्य एवं औषधि प्रशासन इस दवा का न्यूयॉर्क में 1500 से ज्यादा कोरोना वायरस संक्रमित लोगों पर परीक्षण कर रहा है। भारत द्वारा इसके निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटाने का फैसला किये जाने के बाद बीते कुछ दिनों में इस दवा की मांग में तेजी से इजाफा हुआ है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने अपनी दैनिक प्रेस वार्ता में शुक्रवार को कहा, “…वायरस के खिलाफ इस जंग में महासचिव एकजुटता का आह्वान करते हैं और इसका आशय यह है कि जो भी देश अन्य देशों की मदद करने की स्थिति में है उसे ऐसा करना चाहिए। हम उन देशों को सलाम करते हैं जो ऐसा कर रहे हैं।”

कोरोना वायरस महामारी के बीच भारत द्वारा अन्य देशों को भेजी जा रही दवाओं और अन्य सामग्रियों के बारे में गुतारेस की प्रतिक्रिया मांगे जाने से जुड़े सवाल के जबाव में उन्होंने यह बात कही। भारत ने मलेरिया रोधी दवा के निर्यात पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है जिसे कोविड-19 के संभावित इलाजके तौर पर देखा जा रहा है।

भारत कोरोना वायरस से प्रभावित 55 देशों को सहायता और वाणिज्यिक आधार पर हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन की आपूर्ति करने की प्रक्रिया में है। अमेरिका समेत कुछ अन्य देशों तक यह आपूर्ति पहुंच भी गई है।

बता दें कि देश में कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। पूरी दुनिया के साथ-साथ भारत में भी ये महामारी फैल रही है। फिलहाल देश में कोरोना के कुल 14 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। वही कोरोना से 470 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना का कहर महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में काफी ज्यादा है। वही केंद्र और राज्य सरकार लोगों से लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की अपील कर रही है।