Global Event News

रियाद में बोले पीएम मोदी, अगले पांच वर्ष में भारत की इकॉनमी को दोगुनी करके 5 ट्रिलियन डॉलर करने का लक्ष्य

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

दो दिन की सऊदी अरब पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को रियाद में फ्यूचर इनवेस्टमेंट इनिशिएटिव में भाषण के दौरान अपने विचार रखे। इस दौरान पीए मोदी ने कहा कि इस फोरम का उद्देश्य सिर्फ यहाँ के अर्थतंत्र की चर्चा करना नहीं है बल्कि विश्व में उभरते ट्रेंड्स को समझना और उसमें विश्व कल्याण के रास्ते ढूंढना भी है।


उन्होंने कहा , सऊदी अरब से हमारे रिश्ते कई साल पुराने हैं। हमारे प्राचीन संबंधो ने रणनीतिक साझेदारी की मजबूत आधारशिला रखी है। 

पीएम ने कहा भारत ने अगले पांच वर्ष में अपनी इकॉनमी को दोगुनी करके 5 ट्रिलियन डॉलर करने का लक्ष्य रखा है। आज भारत में हम विकास को गति देना चाहते है तो हमें उभरते ट्रेंड्स को समझना होगा। आज भारत दुनिया का तीसरा बड़ा स्टार्टअप ईकोसिस्टम बन गया है। हमारे कई स्टार्टअप वैश्विक स्तर पर निवेश करने लगे हैं।


पीएम मोदी ने कहा आज मैं आपसे ग्लोबल बिजनेस को प्रभावित करने वाले पांच बड़े ट्रेंड के बारे में बात करना चाहूंगा। उन्होंने कहा आज भारत में रिसर्च एंड डेवलपमेंट से लेकर टेक उद्यमिता का ईको सिस्टम तैयार हो रहा है। हमारे इन प्रयासो के नतीजे भी आना शुरू हुए हैं।  

उन्होंने कहा इन्फ्रास्ट्रक्चर एक अपॉर्चुनिटी मल्टीप्लायर है।  इनफ्रास्ट्रक्चर बिजनेस को निवेश के व्यापक अवसर देता है। तो दूसरी और बिजनेस की वृद्धि के लिए इनफ्रास्ट्रक्चर आवश्यक है। उन्होंने कहा आज हम इनफ्रास्ट्रक्चर के बारे में सोईल में नहीं सोचते बल्कि हमारा प्रयास एकीकृत दृष्टिकोण का है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, आज हम infrastructure के बारे में silos में नहीं सोचते बल्कि हमारा प्रयास integrated approach का है. वन नेशन वन पावर ग्रिड (One Nation One Power Grid), वन नेशन वन गैस ग्रिड (One Nation One gas grid) और वन वॉटर ग्रिड (One Water grid), वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड (One Nation One Mobility Card), वन नेशन वन ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (One Nation One Optical Fibre Network) ऐसे अनेक प्रयासों से हम भारत के इन्फ्रास्ट्रक्चर (infrastructure) को इंटीग्रेट (integrate) कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, इन्फ्रास्ट्रक्चर  के निर्माण की अपनी तेजी और स्केल को भी हमने अभूतपूर्व रूप से बढ़ाया है. भारत में इन्फ्रास्ट्रक्चर की ग्रोथ दोगुनी संख्या में रहेगी में रहेगी, और इसमें capacity saturation की कोई सम्भावना नहीं है. इसके कारण निवेशकों को रिटर्न भी सुनिश्चित रहेगा. भारत में गेस और तेल  के इंनफ्रास्ट्रचर में बड़ी मात्रा में निवेश बढ़ा रहे हैं. वर्ष 2024 तक हमारा रिफिलिंग, पाइपलाइन और  गैस टरमिनल में 100 बिलयन डोलर तक के निवेश का लक्ष्य है। पिछले पांच साल में कई सुधार किए हैं, भारत में 286 अरब डॉलर का FDI निवेश हुआ। भारत के कर ढांचे की तुलना आज विश्व के सबसे अच्छे कर ढांचे के साथ, 1500 से ज़्यादा पुराने क़ानूनों को समाप्त किया, 350 मिलियन लोगों को बैंक से जोड़ा गया। DBT से 20 अरब डॉलर की बचत हुई, दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थकेयर प्रोग्राम आयुष्यमान भारत शुरू किया.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि, Insolvency and Bankruptcy Code हो या देश व्यवपी एक taxation system, हमने मुश्किल से मुश्किल decisions लिए हैं। आज भारत tax structure और IPR business regimes के साथ comparable है. दुनिया भर में भारत के स्किल्ड ह्यूमन रिसोर्स को आदर और प्रतिष्ठा मिली है। भारतीय प्रतिभाओं ने सऊदी अरब में आनुशासित कानून, कानून का पालन करने वाले परिश्रमी और कुशल कार्यबल के रूप में अपनी अनूठी पहचान बनाई है

DO NOT MISS