Other Sports

स्कूली बच्चों का रोंगटे खड़े कर देने वाले ‘जिमनास्टिक्स’ के कायल हुए खेल मंत्री, बोले- ‘मुझे इनसे मिलवाओ’

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भारत के लोगों में हमेशा से खेल के प्रति गजब का उत्साह देखने को मिलता है और यह भी बात किसी से छुपी नहीं है कि देश की गली-गली में टैलेंट मौजूद है लेकिन जरूरत है तो सिर्फ सही प्लेटफॉर्म की। हाल ही में खेल दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने भी देश को फिटनेस पर खासा जोर देने के लिए कहा था और केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू  की खेल के प्रति जनून किसी से छुपा नहीं है। यहीं नहीं एक केंद्रीय मंत्री होने के नाते वो हमेशा नई प्रतिभा को प्रोत्साहित करने में कोई कसर नहीं छोड़ते। इसी कड़ी में हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो पर केंद्रीय मंत्री ने संज्ञान लिया है। 

दरअसल वायरल वीडियो में दो स्कूल के बच्चे सड़क से गुजरते हुए जिमनास्टिक के शानदार करतब दिखा रहे हैं। बच्चों की ऐसी प्रतिभा को देखकर खेलमंत्री से रहा नहीं गया और उन्होंने इन बच्चों में मिलने की ख्वाहिश जता दी। 

खेल मंत्री ने अपने ट्वीटर हैंडल से वायरल वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “मुझे खुशी है कि नादिया ने इस ट्वीट किया. वे पहली जिमनास्ट है जिन्होंने 1976 के मौंट्रिलल ओलंपिक में परफेक्ट 10.0 अंक हासिल किए और उसके बाद छह और परफेक्ट 10 हासिल कर तीन गोल्ड मेडल जीते. यह इसे (वीडियो को) बहुत खास बनाता है. मैंने गुजारिश की है कि मुझे इन बच्चों से मिलवाया जाए.”

बता दें, पिछली सरकार में गृह राज्यमंत्री रहे रिजिजू का खेलों से नाता नया नहीं है। सोशल मीडिया पर अक्सर अपनी वर्जिश की तस्वीरें डालकर फिटनेस के प्रति जागरूकता जगाने वाले रिजिजू अपने स्कूली दिनों में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे । यही नहीं उन्होंने राष्ट्रीय खेलों में भी हिस्सा लिया था। 

अपने स्कूली दिनों में समाजसेवा में सक्रिय रहे रिजिजू ने कई आंदोलनों में हिस्सा लिया । वह युवा और सांस्कृतिक टीम के सदस्य के तौर पर 1987 में तत्कालीन सोवियत संघ में भारत उत्सव में भाग लेने गए । युवा नेता और संसदीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य के तौर पर कई देशों का दौरा कर चुके रिजिजू ने हंसराज कालेज से स्नातक और दिल्ली विश्वविद्यालय से कानून में स्नातक की डिग्री हासिल की।