PC-Twitter/ BCCI
PC-Twitter/ BCCI

Cricket News

कोहली की सलाह, आईपीएल से खराब तकनीकी आदत नहीं सीखें खिलाड़ी

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

विशाखापत्तनम- भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को विश्व कप जाने वाले खिलाड़ियों को स्पष्ट संदेश दिया कि वे आईपीएल के दौरान खराब तकनीकी आदतें नहीं सीखें और सतर्कता से कार्यभार संभाले। 

उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि ऐसा करने के लिये 23 मार्च से शुरू हो रही इस लुभावनी लीग में अगर जरूरत हो तो वे मैचों से आराम भी ले सकते हैं। 

सात हफ्ते तक चलने वाली लीग 12 मई को समाप्त होगी और भारतीय टीम इसके 23 दिन बाद साउथम्पटन में पांच जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्व कप का शुरूआती मैच खेलेगी। 

कोहली ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 मैच की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से कहा, ‘‘उन्हें सुनिश्चित करना होगा कि उनका खेल वनडे के हिसाब से ज्यादा खिसके नहीं। इसका मतलब है कि हमें उन खराब आदतों से सतर्क रहना होगा जो आईपीएल के दौरान शामिल हो सकती हैं। ’’ 

कोहली के लिये राष्ट्रीय टीम का हित सर्वोपरि है, वह चाहते हैं कि उनके साथी आईपीएल के दोरान इन चीजों का ध्यान रखें। 

उन्होंने कहा, ‘‘सभी खिलाड़ियों को आईपीएल के दौरान खराब आदतों को नहीं डालने के लिये निरंतर प्रयास करना होगा ताकि इन पर लगाम लग सके। जैसे ही आप नेट में प्रवेश करते हो और खराब आदतें बनाने लगते हो, आप लय खो देते हो और बल्लेबाजी फार्म गंवा देते हो। और विश्व कप जैसे टूर्नामेंट में फार्म में वापसी करना बहुत मुश्किल है। ’’ 

भारतीय कप्तान विराट कोहली को लगता है कि विश्व कप तैयारियों के अंतर्गत तर्कसंगत यही होता कि उनकी टीम दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के बजाय दो और वनडे मुकाबले खेलती। 

भारतीय टीम आस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टी20 और पांच वनडे खेलेगी जो पांच जून को साउथम्पटन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्व कप के शुरूआती मुकाबले से पहले उनकी अंतिम अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला होगी। 

कोहली ने शुरूआती टी20 की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘शायद, दो और वनडे सिर्फ हमारे लिये ही नहीं बल्कि दोनों टीमों के लिये फायदेमंद होते। यह ज्यादा आदर्श और तार्किक स्थिति होती। ’’ 

हालांकि ये टी20 मैच हैं, लेकिन कोहली इन छोटे प्रारूप के मैचों को विश्व कप की तैयारियों के रूप में लेना चाहेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन हमारे पास जो भी सर्वश्रेष्ठ चीज आगे है, हमें उसका उपयोग करना होगा। जैसा कि मैंने पहले कहा है कि हम बतौर टीम मानसिक रूप से सही स्थिति में आना चाहेंगे। ’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘अभी हम बतौर टीम काफी संतुलित हैं और मुझे किसी भी चीज या विभाग में कोई चिंता नहीं है। हर कुछ लगभग सुलझा हुआ है। ’’ 

हालांकि कप्तान ने यह खुलासा नहीं किया कि लेग स्पिनर मयंक मार्कंडेय को युजवेंद्र चहल पर तरजीह दी जायेगी या नहीं। चहल और कृणाल पंड्या टी20 प्रारूप के दो विशेषज्ञ स्पिनर हैं। 

कोहली ने कहा, ‘‘देखिये, उसे (मार्कंडेय) मौका दिया गया है क्योंकि उसने अच्छा प्रदर्शन किया है। यह पूरी तरह से युवा खिलाड़ी को मौका देना है जिसने पिछले दो सत्रों में अच्छा प्रदर्शन किया है। उसने आईपीएल और टी20 क्रिकेट में अच्छी गेंदबाजी की। ’’ 

भारतीय कप्तान ने आस्ट्रेलिया के आल राउंडर मार्कस स्टोइनिस को आगामी श्रृंखला में सबसे खतरनाक खिलाड़ी बताया। 

DO NOT MISS