Cricket News

VIDEO - विराट कोहली ने तोड़ा मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का वर्ल्ड रिकॉर्ड, सबसे तेजी से पूरे किए 10 हजार वनडे रन

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने एक बड़ी उपलब्धी हासिल कर ली है. विराट कोहली ने वनडे इंटरनेशनल में सबसे कम पारियों में 10 हजार रन पूरे करने वाले बल्लेबाज बन गए है. उन्होंने सचिन तेंडुलकर के 17 साल पुराने वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. इस मैच से पहले विराट कोहली के नाम 212 मैंचो की 204  पारियों में 9912 रन बनाए थे. 

कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ बुधवार को यहां दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में यह विशिष्ट उपलब्धि हासिल की जिसके लिये उन्हें इस मैच से पहले 81 रन की दरकार थी. कोहली 212वें वनडे मैच की 205वीं पारी में 10,000 रन पूरे करके सबसे कम पारियों में यह मुकाम हासिल करने वाले बल्लेबाज बने.

उन्होंने वेस्टइंडीज के गेदबाद एश्ले नर्स की गेंद पर यह मुकाम हासिल किया. 

इससे पहले यह रिकार्ड तेंदुलकर के नाम पर था जिन्होंने 259 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी। इस सूची में उनके बाद सौरव गांगुली (263 पारियां), रिकी पोंटिंग (266), जाक कैलिस (272), महेंद्र सिंह धोनी (273), ब्रायन लारा (278) का नंबर आता है. 

वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला शुरू होने से पहले कोहली को वनडे में 10,000 रन पूरे करने के लिये केवल 221 रन की दरकार थी. उन्होंने गुवाहाटी में खेले गये पहले मैच में 140 रन बनाये थे. वनडे में सबसे तेज 8000 रन (175 पारियां) और 9000 रन (194 पारियां) का रिकार्ड भी कोहली के नाम पर ही दर्ज है. 

कोहली वनडे में 10,000 रन पूरे करने वाले दुनिया के 13वें और भारत के पांचवें बल्लेबाज बने. भारत के जिन बल्लेबाजों ने कोहली से पहले यह उपलब्धि हासिल की थी उनमें तेंदुलकर (18,426 रन), सौरव गांगुली (11,363), राहुल द्रविड़ (10,889) और महेंद्र सिंह धोनी (10,123) शामिल हैं.

धोनी ने भारत की तरफ से हालांकि 9949 रन बनाये हैं और उन्हें अपनी राष्ट्रीय टीम की तरफ से वनडे में 10,000 रन पूरे करने के लिये 51 रन की दरकार है. धोनी ने 2007 में एशिया एकादश की तरफ से खेलते हुए अफ्रीका एकादश के खिलाफ तीन मैचों में 174 रन बनाये थे जिससे वह हाल में समाप्त हुए एशिया कप के दौरान ‘दस हजारी’ क्लब में शामिल हो गये थे. 

कोहली ने इसके अलावा सबसे कम पारियों में स्वदेश में 4000 रन और वेस्टइंडीज के खिलाफ सर्वाधिक रन के दो अन्य रिकार्ड भी अपने नाम लिखवाये जो अब तक तेंदुलकर के नाम पर दर्ज थे. 

कोहली को 4,000 वनडे रन पूरे करने लिये केवल 30 रन की दरकार थी. वह तेंदुलकर (6976) और धोनी (4216) के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज बन गये हैं. दुनिया में अब तक केवल दस बल्लेबाजों ने अपनी घरेलू सरजमीं पर 4,000 से अधिक रन बनाये हैं. 

कोहली ने स्वदेश में सबसे कम पारियों में 4,000 वनडे रन पूरे करने का रिकार्ड बनाया.  उन्होंने इसके लिये केवल 78 पारियां खेली.  इस मामले में भी उन्होंने तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़ा जिन्होंने 92 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी. धोनी ने 99, आस्ट्रेलिया के डीन जोन्स ने 103, दक्षिण अफ्रीका के कैलिस ने 109 और आस्ट्रेलिया के पोंटिंग ने 110 पारियों में स्वदेश में 4,000 रन पूरे किये थे. 

धोनी के स्वदेश में बनाये गये रनों में एशिया एकादश की तरफ से बनाये गये रन शामिल नहीं हैं.  एबी डिविलियर्स ने भी दक्षिण अफ्रीका में 4000 से अधिक रन बनाये हैं लेकिन इनमें 63 रन अफ्रीका एकादश की तरफ से एशिया एकादश के खिलाफ बनाये गये थे. अगर इन रनों को शामिल किया जाता है तो डिविलियर्स ने केवल 91 पारियों में स्वदेश में 4,000 रन पूरे कर दिये थे. इस धाकड़ बल्लेबाज ने वैसे दक्षिण अफ्रीकी की तरफ से अपनी सरजमीं पर 3994 रन बनाये हैं.

कोहली ने अपनी पारी के दौरान तेंदुलकर का एक अन्य रिकार्ड अपने नाम किया. वह भारत और वेस्टइंडीज के बीच सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गये हैं. तेंदुलकर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 1573 रन बनाये हैं और कोहली अब उनसे आगे निकल चुके हैं.  

(इनपुट भाषा से भी )
 

DO NOT MISS