Cricket News

कोहली-डिविलियर्स पर अकेले भारी पड़े रसेल, बेंगलोर फिर हारा

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

आंद्रे रसेल ने फिर से डेथ ओवरों में अपनी पावर हिटिंग का जबर्दस्त नमूना करके विराट कोहली और एबी डिविलियर्स के अर्धशतकीय प्रयासों पर पानी फेरा और कोलकाता नाइटराइडर्स को आईपीएल मैच में शुक्रवार को यहां रायल चैलेंजर्स बेंगलोर पर पांच विकेट से रोमांचक जीत दिलायी। 
 
 रसेल ने केवल 13 गेंदों पर एक चौके और सात छक्कों की मदद से नाबाद 48 रन बनाये और बेंगलोर के पांच विकेट पर 205 रन के बड़े स्कोर को भी बौना बना दिया। केकेआर को आखिरी तीन ओवर में 53 रन चाहिए थे और तब रसेल ने जिम्मेदारी संभाली। 
  
वेस्टइंडीज के इस आलराउंडर ने मोहम्मद सिराज की बीमर पर छक्का लगाया। अंपायर ने सिराज को इसके बाद गेंदबाजी की अनुमति नहीं दी। उनका ओवर करने के लिये आये मार्कस स्टोइनिस पर रसेल ने लगातार दो छक्के जमाये। टिम साउथी के अगले ओवर में उन्होंने चार छक्कों और एक चौके की मदद से 29 रन जुटाये जिससे केकेआर ने 19.1 ओवर में ही पांच विकेट पर 206 रन बना दिये। 
 
रसेल से पहले क्रिस लिन (31 गेंदों पर 43 रन) और रोबिन उथप्पा (25 गेंदों पर 33 रन) ने दूसरे विकेट के लिये 48 गेंदों पर 65 रन की साझेदारी की जबकि नितीश राणा ने 23 गेंदों पर 37 रन का योगदान दिया। 
 
इससे कोहली और डिविलियर्स का शानदार प्रयास भी बेकार चला गया। कोहली ने 49 गेंदों पर नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से 84 रन जबकि डिविलियर्स ने 32 गेंदों पर 63 रन की पारी खेली जिसमें पांच चौके और चार छक्के शामिल हैं। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिये 108 रन जोड़े। स्टोइनिस ने आखिर में 13 गेंदों पर नाबाद 28 रन बनाये। 

बेंगलोर की यह लगातार पांचवीं हार है। उसे अब भी पहली जीत की दरकार है लेकिन इससे उसके लिये आगे की राह मुश्किल हो गयी है। केकेआर की यह चार मैचों में तीसरी जीत है और वह दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। 
केकेआर ने सुनील नारायण (दस) का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन लिन और उथप्पा ने टीम पर दबाव नहीं पड़ने दिया। इन दोनों ने रणनीतिक बल्लेबाजी की और नौ ओवर तक स्कोर 92 रन पर तक पहुंचाया। 
 
बायें हाथ के स्पिनर पवन नेगी के आने के बाद थोड़ा स्थिति बदली। उन्होंने उथप्पा को लांग आफ पर कैच कराया और फिर लिन की गिल्लियां बिखेरी जिन्हें इससे ठीक पहले सिराज ने जीवनदान दिया था। 
 
इसके बाद रन गति एकदम से धीमी पड़ गयी तथा बीच में तीन ओवर (12वें से लेकर 14वें तक) केवल 13 रन बने। इस बीच एक बार भी गेंद सीमा रेखा तक नहीं पहुंची। राणा और दिनेश कार्तिक (15 गेंदों पर 19 रन) को भी जीवनदान मिला लेकिन वक्त की नजाकत के अनुरूप लंबे शाट खेलने के प्रयास में वे इसका खास फायदा नहीं उठा पाये। 

जब लग रहा था कि बेंगलोर अपनी पहली जीत दर्ज करने में सफल रहेगा तब रसेल ने आकर पूरा पासा पलट दिया। साउथी का पारी का 19वां ओवर निर्णायक साबित हुआ। 
 
इससे पहले किसी भी प्रारूप में पिछली छह पारियों में 50 रन तक पहुंचने में नाकाम रहे कोहली आज शुरू से अपने असली रंग में दिखे। प्रसिद्ध कृष्णा पर लगाये गये लगातार चौके हों या लॉकी फर्गुसन के ओवर में तीन बार गेंद को सीमा रेखा तक पहुंचाना, उनके सभी शॉट दर्शनीय थे। कोहली ने पार्थिव पटेल (24 गेंदों पर 25) के साथ पहले विकेट के लिये 64 रन जोड़े। 

कोलकाता की तरफ से पीयूष चावला, सुनील नारायण और कुलदीप यादव की स्पिन त्रिमूर्ति ने ही आठ या इससे कम के इकोनोमी रेट से रन दिये लेकिन बाकी गेंदबाज महंगे साबित हुए। कामचलाऊ स्पिनर नितीश राणा (दो ओवर में 22 रन देकर एक) ने पार्थिव को पगबाधा आउट करके केकेआर को पहली सफलता दिलायी। 
 
कोहली ने अपनी पारी के दौरान टी20 में 8000 रन पूरे किये और आईपीएल में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बने। दूसरी तरफ डिविलियर्स ने नारायण के सामने अपनी उत्कृष्टता दिखायी और आंद्रे रसेल के खिलाफ लंबे शाट लगाने के अपने कौशल का शानदार नमूना दिखाया। 

कुलदीप ने आखिर में अपनी ही गेंद पर कोहली का कैच लेकर केकेआर को कुछ राहत दिलायी। डिविलियर्स भी अगले ओवर में सीमा रेखा पर कैच दे बैठे। स्टोइनिस ने कृष्णा के पारी के आखिरी ओवर में 18 रन बटोरे।आंद्रे रसेल ने फिर से डेथ ओवरों में अपनी पावर हिटिंग का जबर्दस्त नमूना करके विराट कोहली और एबी डिविलियर्स के अर्धशतकीय प्रयासों पर पानी फेरा और कोलकाता नाइटराइडर्स को आईपीएल मैच में शुक्रवार को यहां रायल चैलेंजर्स बेंगलोर पर पांच विकेट से रोमांचक जीत दिलायी। 
 
रसेल ने केवल 13 गेंदों पर एक चौके और सात छक्कों की मदद से नाबाद 48 रन बनाये और बेंगलोर के पांच विकेट पर 205 रन के बड़े स्कोर को भी बौना बना दिया। केकेआर को आखिरी तीन ओवर में 53 रन चाहिए थे और तब रसेल ने जिम्मेदारी संभाली। 
 
वेस्टइंडीज के इस आलराउंडर ने मोहम्मद सिराज की बीमर पर छक्का लगाया। अंपायर ने सिराज को इसके बाद गेंदबाजी की अनुमति नहीं दी। उनका ओवर करने के लिये आये मार्कस स्टोइनिस पर रसेल ने लगातार दो छक्के जमाये। टिम साउथी के अगले ओवर में उन्होंने चार छक्कों और एक चौके की मदद से 29 रन जुटाये जिससे केकेआर ने 19.1 ओवर में ही पांच विकेट पर 206 रन बना दिये। 
 
रसेल से पहले क्रिस लिन (31 गेंदों पर 43 रन) और रोबिन उथप्पा (25 गेंदों पर 33 रन) ने दूसरे विकेट के लिये 48 गेंदों पर 65 रन की साझेदारी की जबकि नितीश राणा ने 23 गेंदों पर 37 रन का योगदान दिया। 
 
इससे कोहली और डिविलियर्स का शानदार प्रयास भी बेकार चला गया। कोहली ने 49 गेंदों पर नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से 84 रन जबकि डिविलियर्स ने 32 गेंदों पर 63 रन की पारी खेली जिसमें पांच चौके और चार छक्के शामिल हैं। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिये 108 रन जोड़े। स्टोइनिस ने आखिर में 13 गेंदों पर नाबाद 28 रन बनाये। 
 
 
 
बेंगलोर की यह लगातार पांचवीं हार है। उसे अब भी पहली जीत की दरकार है लेकिन इससे उसके लिये आगे की राह मुश्किल हो गयी है। केकेआर की यह चार मैचों में तीसरी जीत है और वह दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। 
 
 
 
केकेआर ने सुनील नारायण (दस) का विकेट जल्दी गंवा दिया लेकिन लिन और उथप्पा ने टीम पर दबाव नहीं पड़ने दिया। इन दोनों ने रणनीतिक बल्लेबाजी की और नौ ओवर तक स्कोर 92 रन पर तक पहुंचाया। 
 
 
 
बायें हाथ के स्पिनर पवन नेगी के आने के बाद थोड़ा स्थिति बदली। उन्होंने उथप्पा को लांग आफ पर कैच कराया और फिर लिन की गिल्लियां बिखेरी जिन्हें इससे ठीक पहले सिराज ने जीवनदान दिया था। 
 
 
 
इसके बाद रन गति एकदम से धीमी पड़ गयी तथा बीच में तीन ओवर (12वें से लेकर 14वें तक) केवल 13 रन बने। इस बीच एक बार भी गेंद सीमा रेखा तक नहीं पहुंची। राणा और दिनेश कार्तिक (15 गेंदों पर 19 रन) को भी जीवनदान मिला लेकिन वक्त की नजाकत के अनुरूप लंबे शाट खेलने के प्रयास में वे इसका खास फायदा नहीं उठा पाये। 
 
 
 
जब लग रहा था कि बेंगलोर अपनी पहली जीत दर्ज करने में सफल रहेगा तब रसेल ने आकर पूरा पासा पलट दिया। साउथी का पारी का 19वां ओवर निर्णायक साबित हुआ। 
 
इससे पहले किसी भी प्रारूप में पिछली छह पारियों में 50 रन तक पहुंचने में नाकाम रहे कोहली आज शुरू से अपने असली रंग में दिखे। प्रसिद्ध कृष्णा पर लगाये गये लगातार चौके हों या लॉकी फर्गुसन के ओवर में तीन बार गेंद को सीमा रेखा तक पहुंचाना, उनके सभी शॉट दर्शनीय थे। कोहली ने पार्थिव पटेल (24 गेंदों पर 25) के साथ पहले विकेट के लिये 64 रन जोड़े। 
 
 
 
 
 
कोलकाता की तरफ से पीयूष चावला, सुनील नारायण और कुलदीप यादव की स्पिन त्रिमूर्ति ने ही आठ या इससे कम के इकोनोमी रेट से रन दिये लेकिन बाकी गेंदबाज महंगे साबित हुए। कामचलाऊ स्पिनर नितीश राणा (दो ओवर में 22 रन देकर एक) ने पार्थिव को पगबाधा आउट करके केकेआर को पहली सफलता दिलायी। 
 
 
 
कोहली ने अपनी पारी के दौरान टी20 में 8000 रन पूरे किये और आईपीएल में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बने। दूसरी तरफ डिविलियर्स ने नारायण के सामने अपनी उत्कृष्टता दिखायी और आंद्रे रसेल के खिलाफ लंबे शाट लगाने के अपने कौशल का शानदार नमूना दिखाया। 
 
 
 
 
 
 
 
कुलदीप ने आखिर में अपनी ही गेंद पर कोहली का कैच लेकर केकेआर को कुछ राहत दिलायी। डिविलियर्स भी अगले ओवर में सीमा रेखा पर कैच दे बैठे। स्टोइनिस ने कृष्णा के पारी के आखिरी ओवर में 18 रन बटोरे।
 

DO NOT MISS