Cricket News

रोहित इतना अच्छा खिलाड़ी कि उसे सभी प्रारूपों में खेलना चाहिए: राठौड़

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

भारत के नवनियुक्त बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ का मानना है कि रोहित शर्मा इतने अच्छे खिलाड़ी हैं कि उसे सभी तीनों प्रारूपों में खेलना चाहिए। राठौड़ ने साथ ही टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में सभी परिस्थितियों अच्छा प्रदर्शन करने के लिए रोहित का समर्थन किया।

सीमित ओवरों के प्रारूप में रोहित को दिग्गज क्रिकेटरों में शामिल किया जाता है लेकिन उनका टेस्ट करियर उतार-चढ़ाव से भरा रहा है। रोहित को एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच दिवसीय प्रारूप में मौका दिया और इस बार उन्हें सलामी बल्लेबाज के रूप में शामिल किया गया है।

राठौड़ ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बुधवार को यहां होने वाले दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच से पूर्व कहा, ‘‘वह इतना अच्छा खिलाड़ी है कि उसे सभी प्रारूपों में खेलना चाहिए। सभी यह सोचते हैं। सफेद गेंद के क्रिकेट में उन्होंने सलामी बल्लेबाज के रूप में इतना अच्छा प्रदर्शन किया है इसलिए ऐसा कोई कारण नहीं है कि वह टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में सफल नहीं हो, बशर्ते उसे पर्याप्त मौके मिलें। अगर वह अच्छा प्रदर्शन करता है तो टीम के लिए काफी फायदेमंद होगा।’’

रोहित को स्वदेश में टेस्ट क्रिकेट में पारी का आगाज करने का मौका मिलेगा लेकिन राठौड़ ने कहा कि इस स्टार बल्लेबाज में विदेशों में भी सफल होने की क्षमता है।

राठौड़ ने कहा, ‘‘फिलहाल मैं सुनिश्चित नहीं हूं कि पहले टेस्ट की अंतिम एकादश क्या होगी लेकिन अगर रोहित अच्छा करता है और पारी का आगाज कर रहा है तो फिर वह क्यों नहीं।’’

रोहित ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में 10000 से अधिक रन बनाए हैं लेकिन वह सिर्फ 27 टेस्ट खेल पाए हैं और इसमें भी उनका औसत सिर्फ 39 . 62 रहा है जो उनके एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के उनके 48 . 52 के औसत से काफी कम है।

राठौड़ ने कहा, ‘‘उन्होंने (कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री) पांच मैच कहा है लेकिन कोई संख्या तय नहीं है। उनके कहने का मतलब था कि आपको मौकों का फायदा उठाना चाहिए। वे (युवा) इतनी अधिक क्रिकेट खेल रहे हैं। वे अच्छा प्रदर्शन करके यहां तक पहुंचे हैं। मुझे नहीं लगता कि यह बड़ा मसला है। टीम उनका पूरा समर्थन करेगी। ’’

पंत से की जा रही उम्मीदों के बारे में राठौड़ ने कहा, ‘‘ हम चाहते हैं कि वह नैसर्गिक शाट खेले। इससे ही वह खास बनता है। वह प्रभाव छोड़ने वाला खिलाड़ी है लेकिन इसके साथ ही लापरवाह नहीं हो सकते हो। ’’


मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर की मध्यक्रम में वापसी के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘ये दोनों बहुत अच्छे क्रिकेटर हैं और उन्होंने घरेलू क्रिकेट में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। श्रेयस ने (वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में) अच्छा खेल दिखाया। मनीष पहले अच्छा प्रदर्शन करता रहा है और घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा खेल दिखाकर उसने वापसी की है। मुझे पूरा विश्वास है कि वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे। उन्हें बस अपने खेल में निरंतरता लाने की जरूरत है। ’’

DO NOT MISS