Cricket News

ऑस्ट्रलिया में 10 साल बाद टेस्ट जीत : भारत ने पहला टेस्ट 31 रन से जीतकर श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बनायी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


 भारत ने आस्ट्रेलिया को पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के पांचवें दिन सोमवार को 31 रन से हराकर पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बनायी. आस्ट्रेलिया की टीम 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 291 रन ही बना पायी.

भारत ने चेतेश्वर पुजारा (123) के 16वें टेस्ट शतक की मदद से अपनी पहली पारी में 250 रन बनाये थे. इसके जवाब में आस्ट्रेलिया 235 रन ही बना पाया . भारत ने अपनी दूसरी पारी में 307 रन बनाकर आस्ट्रेलिया के सामने चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा था.

भारत ने ट्रेविस हेड और शान मार्श को आउट करके आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के पांचवें और अंतिम दिन सोमवार को यहां जीत की तरफ मजबूत कदम बढ़ाये . 

आस्ट्रेलिया ने 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए लंच तक छह विकेट पर 186 रन बनाये हैं। भारत को अब चार मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त हासिल करने के लिये चार विकेट तो आस्ट्रेलिया को 137 रन की जरूरत है .

लंच के समय कप्तान टिम पेन 40 और पैट कमिन्स पांच रन पर खेल रहे थे। इन दोनों ने सातवें विकेट के लिये अब तक 30 रन जोड़े हैं .

आस्ट्रेलिया ने सुबह चार विकेट पर 104 रन से पारी आगे बढ़ायी लेकिन हेड और मार्श की साझेदारी केवल 7.4 ओवर तक चली। भारत ने पुरानी कूकाबुरा गेंद से सफलता हासिल करने में देर नहीं लगायी.

हेड (14) सुबह आउट होने वाले पहले बल्लेबाज थे। इशांत शर्मा के सटीक बाउंसर का हेड के पास कोई जवाब नहीं था. गेंद उनके बल्ले से लगकर हवा में तैरती हुई गली में गयी जहां अजिंक्य रहाणे ने उसे कैच करने में कोई गलती नहीं की. 

अब मार्श और पेन पर जिम्मेदारी थी. मार्श सहज होकर खेल रहे थे. उन्होंने 160 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया जो चौथी पारी में उनका पहला पचासा भी है.  यह कुल मिलाकर उनका दसवां टेस्ट अर्धशतक है. 


जसप्रीत बुमराह ने भारत को मार्श का महत्वपूर्ण विकेट दिलाया। यह महत्वपूर्ण मोड़ 73वें ओवर में आया जब बाहर की तरफ मूव करती गेंद मार्श के बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर ऋषभ पंत के दस्तानों में समा गयी. 

पंत का यह इस मैच में नौवां शिकार था और इस तरह से उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी (आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2014 में मेलबर्न में नौ शिकार) की बराबरी की. यह विदेशी सरजमीं पर किसी भारतीय विकेटकीपर का दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. 

कमिन्स ने पेन का इसके बाद अच्छा साथ दिया. इस बीच भारत ने भी एक डीआरएस रिव्यू गंवाया जबकि कमिन्स ने बाद में इस प्रणाली का सफल उपयोग किया.

भारत ने चेतेश्वर पुजारा के 16वें टेस्ट शतक की मदद से अपनी पहली पारी में 250 रन बनाये थे। इसके जवाब में आस्ट्रेलिया 235 रन ही बना पाया। भारत ने अपनी दूसरी पारी में 307 रन बनाये। उसके आखिरी पांच विकेट 25 रन के अंदर गिरे.


( इनपुट - भाषा से )

DO NOT MISS