Cricket News

विश्वकप को लेकर दुबई में ICC की अहम बैठक, 'BCCI करो मांग, पाक का हो बायकॉट'

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

पाकिस्तान की उल्टी गिनती शुरु हो चुकी है, पाकिस्तान अमन की भीख मांग रहा है। पाक पीएम इमरान खान, पीएम मोदी से बातचीत करने की गुहार लगा रहे हैं। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान अब बार-बार शांति की बात करते नजर आते हैं।

हर कोई ये समझ सकता है कि कैसे पाकिस्तान अंदर से घबराया हुआ है। पुलवामा के बाद भारत ने आसमान के जरिए पाकिस्तान को सबक सिखा दिया है, और बारी मैदान की है। उस मैदान की, जिस पर इमरान खान 21 साल तक खेलते रहे हैं, यानी क्रिकेट का मैदान... दरअसल ये मुद्दा विश्वकप का है।

आगामी अतंरराष्ट्रीय क्रिकेट विश्वकप-2019 के मद्देनज़र आपका अपना भरोसेमंद और पसंदीदा चैनल रिपब्लिक भारत ये मुहिम चला रहा है कि पाकिस्तान को विश्वकप से बेदखल कर दिया जाए। जी हां इस बार पाकिस्तान को विश्वकप से निकाल बाहर फेंकना है, क्योंकि हमारे देश में बारुद भेजने वालों से बल्ले का खेल नहीं खेला जा सकता है।

  • ICC की आज दुबई में अहम बैठक 
  • पाक को वर्ल्ड कप से बाहर करने पर विचार 
  • ICC के सामने BCCI कर सकती है मांग 

आज दुबई में पाकिस्तान की किस्मत का फैसला हो सकता है, आज पाकिस्तान पूरी दुनिया के सामने एक बार फिर शर्मिंदा हो सकता है। आज का दिन पाकिस्तान के लिए सबसे बुरी तारीख में बदल सकता है।

ऐसा हम क्यों कह रहे हैं, इसके पीछी भी बड़ी वजह है। दरअसल आज दुबई में ICC की बैठक होने वाली है, आईसीसी की ये बैठक पाकिस्तान के खिलाफ भारत के रुख की वजह से बुलाई गई है। आज BCCI पाकिस्तान को विश्वकप क्रिकेट से बाहर करने की मांग कर सकती है।

मतलब साफ है, एयरस्ट्राइक के बाद पीएम मोदी की अगुवाई में भारत पाकिस्तान को बोल्ड करने जा रहा है, यानि अब क्रिकेट की दुनिया से पाकिस्तान की विदाई हो सकती है। बतौर कप्तान पाकिस्तान को विश्वकप जिताने वाले इमरान खान को अब मोदी के यॉर्कर का सामना करना है।

इसे भी पढ़ें - रिपब्लिक भारत की मुहिम: 'पाकिस्तान के साथ क्रिकेट का हो बहिष्कार'

रिपब्लिक भारत की मुहिम रंग लाएगी, क्योंकि इसे पूरे राष्ट्र का समर्थन हासिल है। R.भारत का साफ रुख है कि देश में आतंक भेजने वालों को साथ ना क्रिकेट के संबंध हो सकते हैं और ना कला के.. हमारी की मुहिम है, पाकिस्तान को बैन करो, पाकिस्तान का विश्वकप से बहिष्कार हो। हम ये मुहिम चलाते रहेंगे...क्योंकि ये मुहिम 'राष्ट्र के नाम' है।

DO NOT MISS