Cricket News

VIDEO: कराची में 32 सेना की गाड़ियों के काफिले के साथ स्टेडियम पहुंची श्रीलंकाई टीम, पाकिस्तानियों ने ही उड़ाया मजाक

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

पाकिस्तान में लंबे समय बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हुई है।  पाकिस्तान ने श्रीलंका को 67 रनों से मात देकर 10 साल बाद सोमवार को वनडे इंटरवेशनल में वापसी की। श्रीलंका की टीम 10 साल बाद पाकिस्तान की सरजमीं पर थी। कराची के नेशनल स्टेडियम में मैचों की सीरीज का दूसरा वनडे खेल गया। इस मैच से पहले श्रीलंकाई टीम पर आतंकी हमले का खतरा था। लेकिन पाकिस्तान ने खिलाड़ियों को ऐसा सिक्योरिटी मुहैया कराई कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा भी पीछे छूट गई। सुरक्षा चिंताओं के कारण कई प्रमुख श्रीलंकाई खिलाड़ी दौरे से बाहर हैं। 


भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें श्रीलंकाई खिलाड़ियों को मुहैया कराई गई सुरक्षा नजर आ रही है। इस वीडियो को बनाने वाला शख्स बोल रहा है कि यहां कराची में किस तरह से कर्फ्यू लगाकर मैच करवाया जा रहा है।  गंभीर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कहा कि इतना कश्मीर किया कि कराची भूल गए। 


इस वीडियो को कार में बैठे दो लोगों ने उस समय बनाया, जब श्रीलंकाई टीम सड़क से गुजर रही थी। वीडियो की शुरुआत क्रुजर बाइक से होती है, जो सुरक्षा में सबसे आगे चल रही थी। श्रीलंकाई टीम को दी जा रही सुरक्षा देखकर हर कोई हैरान था। वीडियो में सड़क पर सिर्फ सुरक्षा में चल रही दो दर्जन से ज्यादा गाड़ियां ही दिख रही थी। इसके अलावा एक एंबुलेंस भी काफिले में चल रही थी। जिस पर वीडियो बनाने वाले शख्स ने जमकर मजे लेते हुए कहा कि इतनी सुरक्षा के बावजूद भी अगर कोई मसला हो जाता है तो एंबुलेंस की भी व्यवस्था है। इतनी कड़ी सुरक्षा के बावजूद भी इन्हें कोई मसला होने का खतरा है। 


बता दें इस कराची में खेले गई इस मैच में पाकिस्तान ने बाबर आजम की शतकीय पारी की बदौलत श्रीलंका टीम के सामने 305/7 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया। वहीं 306 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा कर रही श्रीलंकाई टीम 46.5 ओवरों में 238 रनों पर ढेर हो गई। शेहान जयसूर्या (96) पहले वनडे शतक से चूक गए और दासुन शनाका ने करियर बेस्ट 68 रन बनाए। 

याद दिला दें कि 2009 में श्रीलंका टीम पर हुए आतंकवादी हमले के बाद से कई देशों ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया। पाकिस्तान की कोशिश है क वह अपने यहां अंतरराष्ट्रीय क्रेकेट की बहाली कराए और सभी देशों के साथ अपने घर में खेले।


 

DO NOT MISS