Cricket News

अंतिम दो वनडे में नहीं खेलेंगे धोनी, क्या भारतीय सरजमीं पर 'माही' ने खेला आखिरी वनडे ?

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को आस्ट्रेलिया के खिलाफ बाकी बचे दो एकदिवसीय मैचों के लिये विश्राम दिया गया है और शुक्रवार को रांची में खेला गया मैच भारतीय सरजमीं पर उनका अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच साबित हो सकता है।

भारत के सहायक कोच संजय बांगड़ ने तीसरे एकदिवसीय मैच में भारत की 32 रन से हार के बाद पत्रकारों से कहा, ‘‘हम अंतिम दो मैचों के लिये कुछ बदलाव करेंगे। माही अंतिम दो मैचों में नहीं खेलेंगे। वह विश्राम करेंगे।’’

श्रृंखला का चौथा मैच दस मार्च को मोहाली जबकि पांचवां और अंतिम मैच 13 मार्च को नयी दिल्ली में खेला जाएगा।

भारत को अब अक्टूबर तक अपनी सरजमीं पर कोई मैच नहीं खेलना है और ऐसे में कहा जा रहा है कि रांची का मैच धोनी को भारतीय धरती पर आखिरी मैच हो सकता है। माना जा रहा है कि विश्व कप के बाद यह स्टार क्रिकेटर संन्यास ले सकता है।

झारखंड राज्य क्रिकेट संघ का हालांकि मानना है कि उन्हें अगले घरेलू सत्र में सीमित ओवरों के एक मैच की मेजबानी मिल जाएगी, जिसमें धोनी उचित विदाई ले सकते हैं। धोनी प्रचार से बचते हैं और ऐसी संभावना बहुत कम है।

धोनी ने हैदराबाद में पहले मैच में नाबाद 59 रन बनाकर भारत की जीत में अहम भूमिका निभायी थी लेकिन पिछले दो मैचों में वह शून्य और 26 रन ही बना पाये।

धोनी की अनुपस्थिति में अंतिम दो वनडे में ऋषभ पंत विकेटकीपर की भूमिका निभाएंगे।

इससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने वनडे विश्व कप के बाद भी महेंद्र सिंह धोनी को टीम में बनाए रखने की वकालत की थी और कहा था कि कि अगर कोई प्रतिभावान है तो उम्र कोई मुद्दा नहीं होना चाहिए. 

विश्व कप अब पास में है और लोगों को लगता है कि धोनी का यह अंतिम अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट होगा लेकिन गांगुली की सोच इससे हटकर है।

सौरभ गांगुली ने कहा, ‘‘धोनी विश्व कप के बाद भी बने रह सकते हैं। अगर भारत विश्व कप जीतता है और धोनी लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो फिर उन्हें संन्यास क्यों लेना चाहिए। अगर कोई प्रतिभावान है तो फिर उम्र मसला नहीं होना चाहिए।’’

 

DO NOT MISS