PC-Twitter
PC-Twitter

Badminton News

चीन ओपन की नाकामी को भुलाकर कोरिया ओपन में उतरेगी पीवी सिंधू

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:


विश्व चैंपियन पीवी सिंधू चीन ओपन के शुरू में बाहर होने की निराशा से उबरकर मंगलवार से यहां शुरू होने वाले कोरिया ओपन सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट से इस सत्र में बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर का खिताब जीतने के लिये अपनी कवायद शुरू करेगी।

विश्व चैंपियनशिप जीतने के बाद ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू पिछले सप्ताह चीन ओपन सुपर 1000 के दूसरे दौर में थाईलैंड की पोर्नपावी चोचुवोंग से हार गयी थी।

कोरिया ओपन में 2017 की विजेता 26 वर्षीय भारतीय को अब इसे भुलाकर इंचियोन में 400,000 डालर इनामी टूर्नामेंट पर ध्यान देना होगा जिसमें उनका पहला मुकाबला अमेरिका की बीवेन झांग से होगा।

सिंधू ने बीवेन को बासेल में विश्व चैंपियनशिप में हराया था लेकिन उन्हें चीन में जन्मी शटलर के खिलाफ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। पिछले साल बीवेन ने दो बार सिंधू को हराया था। पहले दौर में जीत के बाद सिंधू को चोचुवोंग से बदला लेने का मौका मिल सकता है।

खराब फार्म में चल रही साइना नेहवाल भी कोरिया ओपन में फार्म में वापसी करने की कोशिश करेगी जहां उनका पहला मुकाबला कोरिया की किम गा इयुन से होगा। साइना का किम के खिलाफ रिकार्ड 2-0 है।

विश्व चैंपियनशिप में पदक का भारत के पुरूष वर्ग में 36 साल के इंतजार को खत्म करने वाले बी साई प्रणीत भी अपना प्रभावशाली प्रदर्शन जारी रखना चाहेंगे। वह चीन ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे थे। प्रणीत को शुरू में ही हालांकि डेनमार्क के एंडर्स एंटोनसेन की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा।

पारूपल्ली कश्यप पहले दौर में क्वालीफायर से भिड़ेंगे। पुरूष युगल में सात्विकसाइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी का सामना पहले दौर में ताकेशी कामुरा और कीगो सोनोदा की चौथी वरीयता प्राप्त जापानी जोड़ी से होगा। मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी पहले दौर में क्वालीफायर्स से भिड़ेंगे।

इससे पह ले विश्व चैम्पियनशिप 2019 में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने वाली भारतीय शटलर पीवी सिंधु रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडिटर इन चिफ अर्नब गोस्वामी से खास बताचीत की। 

इस दौरान विश्व चैंपियन पीवी सिंधु ने कहा, ‘‘ मेरे कोचों गोपी सर (पुलेला गोपीचंद) और किम (जी ह्यून) को काफी श्रेय जाता। मेरे माता पिता, सहयोगी स्टाफ ओर प्रायोजकों को भी श्रेय जाता है जिन्होंने मुझ पर विश्वास दिखाया। ’’


उन्होंने आगे कहा कि मेरे प्रशंसकों ने मुझे हमेशा प्यार दिया है। दिल्ली में मेरा भव्य स्वागत किया था। पीवी सिंधु ने कहा मैं वास्तव में बहुत खुश हूं । मुझे इस जीत का इंतजार था और आखिर में मैं विश्व चैंपियन बन गयी । 

( इनपुट - भाषा से )

DO NOT MISS