Politics

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में योगी की रैलीआज, BJP ने ममता बनर्जी से पूछा- हाउज द ‘खौफ’? देखें VIDEO

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज फिर देंगे ममता बनर्जी को चुनौती। वो बंगाल के पुरुलिया में एक आमसभा को संबोधित करेंगे. बता दें,  योगी आदित्यनाथ की रैली ऐसे वक्त में हो रही है, जब 2 दिन पहले पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा बालुरघाट और रायगंज में हेलिकॉप्टर लैंडिंग की अनुमति नहीं दिए जाने के कारण योगी आदित्यनाथ वहाँ नहीं पहुँच सके थे और उन्हें फ़ोन पर ही दोनों सभाओं को संबोधित करना पड़ा था.

रांची के द्वारा होगी बंगाल में एंट्री 

उत्तर प्रदेश कार्यलय के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले राजधानी लखनऊ से विशेष विमान के द्वारा झारखंण्ड की राजधानी रांची पहुंचेगे. फिर सड़क के रास्ते बंगाल जाएंगे. 

वहीं योगी आदित्यनाथ ने खुद अपने दौरे की जानकारी ट्वीटर पर देते हुए कहा कि मैं आज पुरुलिया में आप सबके बीच इस आंदोलन की ध्वजा लेकर भ्रष्टाचारियों के गठबंधन के लिए चुनौती बनकर खड़ा होऊंगा।

इसी बीच उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री मौसिन रजा ने कहा कि  ममता बनर्जी कहां से संचालित हो रही है , उरी देख लिजिए, नहीं तो उसी की ही तरह एक और सर्जिकल स्टाइक होगी , इन्हें डर लग रहा है कि ये सरकार आएगी तो हमें जाना होगाा, इनका अपना तंत्र और लोकतंत्र है , इनकी मानसिकता खराब है. 

रिपब्लिक भारत से एडिटर- इन- चीफ अर्नब गोस्वामी से एक्सक्लूसिव बातचीत करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बंगाल में जिस प्रकार की सरकार चल रही है| इनका जिस प्रकार का आचरण है, जिस तरीके से वहां राजनीतिक हत्या चल रही हैं| यह लोकतंत्र के लिए ना केवल खतरनाक है बल्कि इस देश की संवैधानिक मूल्यों की सीधे- सीधे हत्या भी है| और ये चीज स्पष्ट की जा सकती हैं कि ये लोग सच से पर्दा हटाने के भय से इतने भयभीत हैं कि वहां पर कोई भी ऐसा व्यक्ति जो सच बोलने की हिम्मत कर सकता हो, उसे आने से तो वो रोकेंगे या उसके कार्यक्रम में किसी ना किसी रूप में बाध्य उत्पन करेंगे|

बता दें कि रविवार को योगी आदित्यनाथ की बालूरघाट और रायगंज में जनसभाएं होनी थी। पहली जनसभा सुबह 10:30 बजे के बाद बालूरघाट में तय थी। लेकिन यहां प्रशासन से हेलिकॉप्‍टर उतारने की अनुमति न मिलने के कारण बागडोगरा एयरपोर्ट से हेलीकॉप्टर के जरिए उन्‍हें पहले रायगंज के बीएसएफ हेलीपैड पर उतारने की योजना बनाई गई। लेकिन रायगंज में भी प्रशासन ने उन्‍हें उतरने की इजाजत नहीं दी।  

बता दें जनवरी महीने में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के हेलीकॉप्टर को उतरने की मंजूरी नहीं दी गई थी। बंगाल प्रशासन ने कहा था कि जिस हैलीपेड पर शाह अपना हेलीकॉप्टर उतारना चाहते हैं| उस पर लैंडिंग की सुविधा नहीं है । उसके बाद अमित शाह को दूसरी हवाई पट्टी पर अपना हेलीकॉप्टार उतारना पड़ा ।

DO NOT MISS