Politics

साक्षी महाराज के विवादित बोल, 'अयोध्या, मथुरा, काशी को छोड़ो.. दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ो'

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

भारतीय जनता पार्टी के नेता और उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है. साक्षी महाराज ने जामा मस्जिद पर विवादित टिप्पणी की है. एक रैली को संबोधित करते हुए साक्षी महाराज ने कहा, 'राजनीति मैं जब आया तो पहले मेरा स्टेटमेंट था मथुरा में, अयोध्या, मथुरा काशी को छोड़ो दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ो .. अगर सीढ़ियों में मूर्तियां ना निकले तो मुझे फांसी पे लटका देना.. मैं आज भी कायम हूं अपने स्टेटमेंट पर .. '

इसके साथ ही साक्षी महाराज ने अयोध्या मामले पर सुप्रीम के रुख पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि, मैं सुप्रीम कोर्ट की भर्त्सना करता हूं.. तमाम अनावश्यक मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय दे दिए लेकिन अयोध्या मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट टाल मटोल कर रहा है.'

उन्होंने कहा, 'लोकसभा चुनाव से पहले मंदिर निर्माण शुरू कर दिया जाएगा. 2019 चुनाव में जाने से पहले हर हाल में शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण. चाहे सरकार को लोकसभा में अध्यादेश लाना पड़े या नरसिम्हा राव ने जो जमीन अधिग्रहित की वो राम जन्मभूमि न्यास को देनी पड़े.'

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले की सुनवाई को जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है. पहले ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि अयोध्या मामले पर 2019 लोकसभा चुनाव से पहले फैसला आ सकता है.

अखिलेश का बीजेपी पर निशाना - 

वहीं इस पूरे मामले पर अखिलेश यादव ने कहा है कि, 'समाजवादी लोगों का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट सबसे बड़ा कोर्ट है. उसके अंदर विचाराधीन है मामला.. सभी पक्ष सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करेंगे.. और फैसले का इंतजार कर रहे हैं.'

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने कहा है, 'लेकिन मैं ये कह सकता हूं कि भारतीय जनता पार्टी के लोगों को ना सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है ना ही संविधान पर भरोसा है. भारतीय जनता पार्टी अपने स्वार्थ के लिए किसी भी सीमा तक जा सकती है. मैं समझता हूं जो माहौल उत्तर प्रदेश में है .. खासकर केवल एक जिले में फैजाबाद-अयोध्या में जो इस तरह का मामला चल रहा है.. सुप्रीम कोर्ट को Suo Moto लेकर गंभीरता से विचार करके चाहे उन्हें फौज लगानी पड़े.. फौज लगाकर के वहां पर शांति और वहां के लोगों का जीवन ठीक रहे. क्योंकि भारतीय जनता पार्टी और उनके सहयोगी लोग किसी भी सीमा तक जा सकते हैं.

DO NOT MISS