PTI
PTI

Politics

पीएम-गृह मंत्री को ‘घुसपैठिया' कहने को लेकर अधीर रंजन के बयान पर लोकसभा में मंगलवार को भी हंगामा

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के लिए ‘घुसपैठिया’ और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के लिए ‘निर्बला’ शब्द का इस्तेमाल करने पर लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी से माफी की मांग पर मंगलवार को भी भाजपा के सदस्य अड़े रहे, वहीं अपनी बात नहीं रख पाने पर कांग्रेस ने सदन से वाकआउट किया।

लोकसभा में शून्यकाल शुरू होते ही कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने देश में महंगाई और प्याज के बढ़ते दामों के विषय को उठाने का प्रयास किया।

चौधरी के खड़े होते ही भाजपा के भी सदस्य भी अपने स्थानों पर खड़े हो गये और कांग्रेस सदस्य की कल की गयी टिप्पणियों पर उनसे माफी की मांग करने लगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के लिए ‘घुसपैठिया’ शब्द का इस्तेमाल करते हुए दिये गये चौधरी के बयान पर भाजपा के सदस्य सोमवार की तरह ही माफी की मांग करने लगे।

संसदीय कार्य राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि चौधरी को प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के लिए दिये गये अपने बयान पर माफी मांगनी चाहिए। उसके बाद ही उन्हें सदन में बोलने की अनुमति दी जानी चाहिए।

भाजपा की पूनम महाजन ने कहा कि सोमवार को जब हैदराबाद की घटना पर सारा सदन, सभी दल साथ खड़े थे तो कुछ समय बाद ही चौधरी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के लिए अपमानजनक टिप्पणी की।

उन्होंने कहा कि यह सरकार ऐसी है जहां पहले से कहीं अधिक संख्या में महिला मंत्री हैं और सुरक्षा पर कैबिनेट समिति में प्रधानमंत्री मोदी के साथ दो दो महिलाएं रहीं।

महाजन ने कहा कि ‘निर्बल’ तो चौधरी हैं जो ‘‘एक ही परिवार की महिला की सुरक्षा, सम्मान के लिए खड़े हैं और देश की महिलाओं की उन्हें कोई फिक्र नहीं है।’’ भाजपा सांसद ने कहा कि चौधरी पार्टी के एक ही परिवार के लिए खड़े हैं, देश के लिए नहीं। वह प्रधानमंत्री को घुसपैठिया कहते हैं, इसलिए वह निर्बल हैं।

उन्होंने और भाजपा के सदस्यों ने नारेबाजी करते हुए मांग की कि अधीर रंजन चौधरी अपने बयानों के लिए सदन में माफी मांगे।

इस बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने अधीर रंजन चौधरी को उनकी बात रखने की अनुमति दी, लेकिन वह शोर-शराबे के बीच अपनी बात नहीं रख पाए। इसके बाद कांग्रेस के सदस्यों ने सदन से वाकआउट किया।

गौरतलब है कि चौधरी ने सोमवार को अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर निशाना साधते हुए उनके लिए ‘निर्बला’ शब्द का इस्तेमाल किया जिस पर सत्ता पक्ष के सदस्यों ने उन्हें आड़े हाथ लिया और स्वयं वित्त मंत्री ने पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा में हर महिला ‘सबला’ है।

प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री शाह को ‘घुसपैठिया’ कहने पर भाजपा सदस्यों ने सोमवार को चौधरी से बयान वापस लेने की मांग की और यह मांग भी उठाई कि इस मामले में सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए।

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि अधीर रंजन चौधरी को अपनी बात वापस लेनी चाहिए और माफी मांगनी चाहिए। इस पर कांग्रेस नेता चौधरी ने कहा कि उन्होंने किस हालात और किस लिहाज से यह बात कही, इसे समझने की जरूरत है। नरेन्द्र मोदी हमारे भी प्रधानमंत्री हैं।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) का जिक्र करते हुए चौधरी ने रविवार को ऐसा बयान दिया था। वह कल भी सदन में इस तरह का बयान देते सुने गये।
 

DO NOT MISS