Politics

जम्मू कश्मीर : राजनीतिक घमासान के बीच शुरू हुआ ट्वीट 'GAME'

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने बुधवार की रात राज्य विधानसभा को भंग कर दिया. कुछ देर पहले ही पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने गठबंधन कर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. इस गठबंधन में पीडीपी, एनसी और कांग्रेस शामिल थे. इसके साथ ही विधानसभा को भंग कर राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि जम्मू कश्मीर के संविधान के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत यह कार्रवाई की गई है.

राज्य में हालिया राजनीतिक घटनाओं के चलते पीडीपी की मेहबूबा मुफ्ती और एनसी के उमर अब्दुल्ला विरोधी से दोस्त बन गए. 

बुधवार को तीनों ने कश्मीर हाथ मिलाकर सत्ता में आने का दावा किया. जिसके बाद 'कश्मीर फ्रंट' के गठन की पुष्टि हुई. राज्यपाल भवन के अधिकारी ने कहा कि राज्यपाल ने राज्य विधानसभा को जम्मू कश्मीर के संविधान के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत भंग किया है.

राजनीतिक महकमे में हलचल के बीच ट्विटर पर भी मीम्स के जरिए खूब हो-हल्ला मचा हुआ है. महबूबा और अब्दुल्ला एक के बाद एक ट्वीट कर रहे हैं. इस दौरान मुफ्ती ने मीम भी शेयर किया.

ये सब तब शुरू हुआ जब मेहबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया था कि उसने सरकार को फैक्स के माध्यम से राज्यपाल बनाने के लिए दावा करने का दावा भेजा था. इसके बाद उमर अब्दुल्ला ने एक छोटा सा वीडियो ट्वीट किया.

मेहबूबा ने रिप्लाई करते हुए एक मीम रिट्वीट किया.

बुधवार को तीन पार्टियों ने हाथ मिलाकर सत्ता में आने का दावा किया था. इस घोषणा के तुरंत बाद पूर्व मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती ने राज्यपाल को एक पत्र फैक्स किया. जिसके बाद उन्हें दाव पेश करने का मौका मिला. इसके साथ ही बीजेपी के हैंडवाड़ा विधायक साजद लोन ने भी ऐसा ही किया.

दोनों पक्षों को अपने आंकड़े साबित करने की बजाय राज्यपाल ने असेंबली को भंग करने का फैसला किया. 

 

DO NOT MISS