Politics

WATCH: अयोध्या पर छिड़े घमासान के बीच राहुल गांधी को स्मृति ईरानी ने दिया ये जवाब..

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

राम के नाम पर सियासी घमासान लगातार जारी है. वार-पलटवार का दौर सिलसिलेवार तरीके से चल रहा है. कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी गांधी ने राम मंदिर को लेकर पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी तो केंद्रीय कपड़ा मंत्री और साल 2014 में अमेठी लोकसभा सीट से राहुल गांधी के खिलाफ दंभ भरने वाली भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार रही स्मृति ईरानी ने करारा जवाब दिया है.

राहुल गांधी ने राम मंदिर को कांग्रेस का चुनावी एजेंडा मानने से इंकार कर दिया तो स्मृति ईरान ने उनसे तीखा सवाल किया है. राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी से जब मीडिया ने राम मंदिर मसले पर सवाल किया तो मंत्री ईरानी ने सीधा जवाब देते हुए राहुल गांधी के कांग्रेस पार्टी पर जोरदार हमला कर दिया.

गौरतलब है कि राहुल गांधी ने शुक्रवार को संसद भवन परिसर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि राम मंदिर का मसला अभी कोर्ट में है, 2019 के चुनाव में नौकरी, किसानों से जुड़े मुद्दे पर अहम होंगे. उन्होंने ये भी कहा कि 2019 के चुनाव में कांग्रेस पार्टी के लिए राम मंदिर कोई एजेंडा नहीं होगा.

राहुल गांधी के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री ने दो टूक जवाब दिया. राम मंदिर पर स्मृति ने कहा कि प्रधानमंत्री के बाद किसी कैबिनेट मिनिस्टर के बोलने का कोई औचित्य नहीं है. प्रधानमंत्री ने अपने इंटरव्यू में सब कुछ बोल दिया है. राहुल गांधी को जवाब देना चाहिए कि कांग्रेस के वकील सुनवाई में क्यों अडंगा लगा रहे हैं.

स्मृति ईरानी ने साफ तौर पर अयोध्या विवाद में SC की प्रक्रिया में बाधा डालने के लिए कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी पर निशाना साधा है.

शुक्रवार को राहुल गांधी के गढ़ अमेठी की अपनी यात्रा के दौरान, स्मृति ईरानी ने अयोध्या विवाद मामले पर पीएम मोदी के रुख को दोहराते हुए, कांग्रेस अध्यक्ष से सीधा सवाल कर दिया कि सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस के नेता इस मुद्दे में बाधा क्यों बन रहे हैं

बता दें, इससे पहले 2019 में अपने पहले इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या विवाद पर अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा था कि राम मंदिर पर अध्यादेश लाने पर कोई भी निर्णय न्यायिक प्रक्रिया समाप्त होने के बाद ही लिया जा सकता है. अपने इंटरव्यू में उन्होंने ये भी सुझाव दिया था कि न्यायिक प्रक्रिया को धीमा किया जा रहा है क्योंकि कांग्रेस के वकील सुप्रीम कोर्ट में "बाधा" पैदा कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें - अयोध्या राम मंदिर मुद्दे पर राहुल गांधी ने तोड़ी चुप्पी, '2019 चुनाव के लिए ये कोई एजेंडा नहीं है'

उन्होंने कहा, "हमने अपने साल 2014 के चुनावी घोषणा पत्र में कहा है कि इस मुद्दे का हल संविधान के दायरे में मिलेगा,"

बता दें, राहुल गांधी भी आज अपने दो दिवसीय अमेठी दौरे के दौरान कई कार्यक्रमों में भाग लेंगे. इसके अलावा पिछले दो हफ्तों में ये दूसरी बार है जब स्मृति ईरानी अमेठी का दौरा कर रही हैं.

DO NOT MISS