Union Minister Smriti Irani (Photo: PTI)
Union Minister Smriti Irani (Photo: PTI)

Politics

स्मृति ने कांग्रेस पर एक कौम से दूसरी कौम को लड़ाने एवं भाईचारा तोड़ने का लगाया आरोप

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में मुस्लिम बहुल इलाकों में 90 फीसदी मतदान सुनिश्चित कराने के लिए मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का कथित विवादास्पद वीडियो वायरल होने के एक दिन बाद केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर एक कौम से दूसरी कौम को लड़ाने एवं आपसी भाईचारा तोड़ने का आरोप लगाया है .

स्मृति ने बुरहानपुर में भाजपा प्रत्याशी अर्चना चिटनीस एवं बड़वाह में पार्टी उम्मीदवार हितेंद्र सिंह के समर्थन में जनसभाओं में कमलनाथ की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस के एक नेता मुस्लिम भाइयों के बीच बैठकर कहते हैं कि हम हिन्दुओं से निपट लेंगे . आप सिर्फ हमारे साथ हो जाइए .’’ 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता शायद यह नहीं जानते कि हिन्दुस्तान में जब एक भाई दूसरे भाई से गले मिलता है, तो वह जाति और धर्म नहीं पूछता . चिंता की घड़ी में कंधे से कंधा मिलाकर उसके साथ खड़ा रहता है और उसकी खुशियों में परिवार का हिस्सा बनकर शरीक होता है .

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, ‘‘कांग्रेस कौम को कौम से न लड़ा पाए, इसलिए 28 नवम्बर को कमल का बटन दबाकर भाजपा को वोट दें .’’ स्मृति ने राज्य में कांग्रेस की ओर से नेता घोषित नहीं किये जाने पर तंज कसते हुए कहा कि इस पार्टी में इतनी हिम्मत नहीं है कि मुख्यमंत्री पद के दावेदार का नाम गिना दे . वह विकास क्या खाक करेंगे . 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस इतना ही बता दे कि उनके वहां ‘कमल’ (कमलनाथ) खिल रहा है या ‘ज्योति’ (ज्योतरादित्य सिंधिया) दमकेगी .

कांग्रेस अध्यक्ष ने राहुल गांधी पर निशाना साधा और राज्य में हुए विकास कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि वह गरीबों के खेतों को सींचते हैं, लेकिन कांग्रेस में उनके (राहुल गांधी के) जीजा किसानों की जमीन को हड़पते हैं .

स्मृति ने खरगौन में भी भाजपा प्रत्याशी के लिए चुनावी प्रचार किया . 

शिवराज सिंह ने भी तीखी प्रतिक्रिया...

रिपब्लिक टीवी के द्वारा दिखाए गए इस वीडियो पर मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने कहा था, 'क्या इसी को बदलाव का वक़्त कहते हैं? क्या इस पर गुस्सा आता है कि कोई वर्ग विशेष आप को न चुन कर विकास को चुनता हैं? क्या मतदाताओं के विचार व चुनने के अधिकार पर आपराधिक अतिक्रमण करना सही हैं? इसका जवाब पूरा मध्य प्रदेश 28 नवंबर को भाजपा को वोट दे कर देगा.'

इसके साथ ही बैठक में सभा को संबोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने हिंदुओं और आरएसएस को धमकी देने वाले बयान भी दिए थे. कमलनाथ ने कहा था, ''RSS के लोग इन्होंने फैलाए हुए हैं. ..आप, मुझे जानकारी है RSS के जो लोग इन्होंने फैलाए हुए है, मैं तो छिंदवाड़ा की बात करूं, मुझे तो लोग आकर बता देते हैं. उनके RSS क्योंकि नागपुर से जुड़ा हुआ है. यहां तो उनके लिए सुबह आओ, रात में चले जाओ और बड़ा आसान है.'' 

 

DO NOT MISS