Politics

'17 मिनट में बाबरी तोड़ दी तो कागज बनाने में कितना वक्त लगता है?' : शिवसेना

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

देश के सबसे पुराने विवादों में से एक अयोध्या मसला सुलझने का नाम ही नहीं ले रहा है. मंदिर पर राजनीति और वार-पलटवार का दौर लगातार जारी है. रोजाना कोई न को ऐसी बयानबाजी कर रहा है कि मामला तूल पकड़ता जा रहा है. अयोध्या में 25 नवंबर को होने वाली धर्म सभा से पहले सियासत में हलचल तेज होती जा रही है. इस बीच एक के बाद एक कई नेता लगातार ऐसी टिप्पणी कर रहे हैं कि वो सुर्खियों में आ रहे हैं. 

इस बीच शिवसेना के नेता संजय राउत ने एक ऐसी बात बोली है कि राजनीतिक महकमे में अचानक उबाल उठने लगा है. 

अपने बयान में शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, '17 मिनट में बाबरी तोड़ दी. जो सालों साल से कलंक अयोध्या को लगा था वो 17-18 मिनट आधे घंटे में जो करना था राम भक्तों ने कर दिया. तो कागज बनाने में कितना वक्त लगता है? कागज बनाने में, कानून.. अगर आप बात करते हो राष्ट्रपति भवन से उत्तर प्रदेश के विधानसभा तक बीजेपी की ही सरकार है.'

लाजमी है कि संजय राउत के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में विवाद बढ़ सकता है.

इसके अलाव शिवसेना ने भाजपा से राम मंदिर निर्माण को लेकर अध्यादेश लाने और तारीख की घोषणा करने के लिए मांग की है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के एक संपादकीय में लिखा, 'सत्ता में बैठे लोगों को शिवसैनिकों पर गर्व होना चाहिए जिन्होंने रामजन्मभूमि में बाबर राज को खत्म कर दिया. शिवसेना ने कहा कि वह चुनाव के दौरान न तो भगवान राम के नाम पर वोटों की भीख मांगती है और न ही जुमलेबाजी करती है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर 25 नवंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे.'

बता दें, शुक्रवार को ही राम मंदिर को लेकर ही उन्नाव से सांसद और भारतीय जनता पार्टी के फायर ब्रांड नेता साक्षी महाराज ने भी एक बड़ा और विवादित बयान दे दिया है. साक्षी महाराज ने राम मंदिर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के रुख की आलोचना की है. उन्होंने कहा है कि 'मैं सुप्रीम कोर्ट की भर्त्सना करता हूं.. तमाम अनावश्यक मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय दे दिए लेकिन अयोध्या मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट टाल मटोल कर रहा है.'

राम मंदिर मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा समय लगाए जाने के मामले में साक्षी महराज ने कहा कि अब कोई रास्ता नही बचा. बहुत सारे अनावश्यक मामलों में न्यायालय ने निर्णय दे दिए. लेकिन अयोध्या मामले में न्यायालय टाल मटोल कर रहा है. साक्षी महाराज ने कहा कि अब बीजेपी सरकार से अपेक्षा है कि सोमनाथ की तर्ज पर लोकसभा में कानून बनाया जाए. 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले की सुनवाई को जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है. पहले ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि अयोध्या मामले पर 2019 लोकसभा चुनाव से पहले फैसला आ सकता है.

DO NOT MISS