Politics

दशहरा के बाद अयोध्या और काशी जाएंगे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

आगामी चुनाव के मद्देनजर भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना अयोध्या के राम मंदिर के मुद्दे को भुनाने में लगी है. दशहरा के बाद शिवसेना पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या जाएंगे और वहां रामलला की पूजा करने के बाद एक सभा को संबोधित करेंगे .

इससे पहले बुधवार को अयोध्या के रसिकपीठ के महन्त रसिकपीठाधीश्वर और राममंदिर निर्माण न्या के अध्यक्ष जन्मजय शरण महाराज ने उद्धव ठाकरे से शिवसेना भवन में मुलाकात की थी. 

मुलाकात के बाद शिवसेना सांसद संजय राऊत ने कहा कि हम तो तैयारी में लगे हैं . उद्धव ठाकरे शिवसेना की परंपरागत दशहरा रैली में अयोध्या जाने की तारीख का ऐलान करेंगे. 

उद्धव ने मुलाकात के बाद जन्मजयशरणजी ने कहा कि हमने उद्धवजी को अयोध्य में आने का न्योता दिया है. शिवसेना के बिना कोई दूसरी ताकत अयोध्या में राम मंदिर नहीं बना सकती. अयोध्या शिवसेना का गढ़ है. 

 

जन्मजयशरणजी ने आगे कहा कि हम चाहते हैं कि अयोध्या में श्रीराम का परचम लहराया जाए और राम मंदिर पर यह ध्वज लहरे. इससे पहले भी शिवसेना के मुखपत्र सामना को दिए साक्षात्कार में जुलाई महीने में उद्धव ठाकरे कहा था कि मैं अयोध्या और काशी में जाउंगा. इस ऐलान के बाद महाराष्ट्र में राजनीति गरमा गई है. शिवसेना ने मुंबई के कई इलाकों में चलो अयोध्या चलो वाराणसी के पोस्टर भी लगाए हैं. 

इन पोस्टरों के देखने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि  उद्धव ठाकेर अयोध्या के बाद काशी की यात्रा का ऐलान पर बीजेपी पर दबाव बढ़ाने के लिए किया है. ठाकरे की कोशिश है कि लोकसभा चुनाव से पहले हिंदुत्व का कार्ड खेलकर बीजेपी को उसी के हथियार से मात दी जाए. 

यह भी पढ़े - RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले, विपक्ष नहीं कर सकता अयोध्या में राम मंदिर का विरोध...

इससे पहले शिवसेना पार्टी के मुखपत्र सामना को दिए इंटरव्यू ने शिवसेना प्रमुख ने कहा था कि वह हिदूओं और अपने शिवसैनिकों के लिए अयोध्या और काशी जाएंगे और इसकी घोषणा जल्द की जाएगी. ठाकरे ने कहा, 'भगवान राम का निर्वासन अभी खत्‍म नहीं हुआ है. 'ठाकरे ने कहा कि वह जल्‍द ही अयोध्‍या और वाराणसी जाएंगे. यह उत्तर भारत में उनके लाखों कार्यकर्ताओं की इच्‍छा है. वे चाहते थे कि उनके दिवंगत पिता बाला साहब ठाकरे, अयोध्‍या आएं. शिवसेना ने राम मंदिर के लिए बड़ा बलिदान दिया था. '

यह भी पढ़े - बीजेपी सांसद गिरिराज सिंह बोले, 'अयोध्या में राम मंदिर अवश्य बनेगा'

 

DO NOT MISS