Politics

शिवसेना ने महाराष्ट्र के औरंगाबाद और उस्मानाबाद जिले के नाम बदलने की उठाई मांग

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने की घोषणा की थी. वहीं अब शिवसेना के फायरब्रांड नेता संजय राउत ने एक ट्वीट के माध्याम से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस से कहा है कि वो औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर और उस्मानाबाद का नाम बदलकर धाराशिव नगर कब करेंगें?

संजय राउत ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ''योगी आदित्यनाथ ने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया.. इलाहाबाद को प्रयाग तीर्थ कर दिया.. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर और उस्मानाबाद का नाम बदलकर धाराशिव नगर कब करेंगें? जय हिंद, जय महाराष्ट्र, जय श्रीराम!''

वहीं हाल ही में उत्तर प्रदेश की सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया है. इससे पहले मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय कर दिया गया था. वहीं अब गुजरात के डिप्टी CM नितिन पटेल ने अहमदाबाद का नाम बदलने की बात कही है. 

मीडिया से बात करते हुए पटेल ने कहा है कि उनकी सरकार अहमदाबाद का नाम बदलने को लेकर विचार कर रही है. उन्होंने कहा, 'काफी लंबे समय से अहमदाबाद का नाम बदलकर कर्णावती रखने की मांग की जा रही है. अगर हम कानूनी बाधाओं को पार करने के लिए लोगों का समर्थन हासिल कर लेते हैं तो हम इसका नाम बदलने के लिए तैयार हैं. अहमदाबाद के लोगों को कर्णावती नाम पसंद है. जब भी उचित समय होगा हम इसका नाम बदल देंगे.'

नाम बदलने को लेकर विपक्ष ने उठाए सवाल -

वहीं सोशल मीडिया पर नाम बदलने को लेकर लोग बीजेपी की सरकार को काफी ट्रोल भी कर रहे हैं. वहीं फैजाबाद का नाम बदलने को लेकर आम आदमी पार्टी के नेता और सांसद संजय सिंह ने CM योगी पर हमला बोला है. संजय सिंह ने योगी आदित्यनाथ को अपना नाम बदलने की सलाह देते हुए इस फैसले को  'तुगलकी फरमान' बताया है.

वहीं फैजाबाद का नाम बदलने को लेकर शरद यादव ने CM योगी आदित्यनाथ की आलोचना की है. शरद यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा था, 'फैजाबाद, शहरों, गलियों, सड़कों आदि के नाम बदलने से बीजेपी वाले यह समझ रहें हैं कि ठीक काम कर रहे हैं मगर आज नौजवान को नौकरी, किसान की आमदनी बड़ानी और विदेशों से ब्लैक मनी लाना यह सब नाम बदलने से नहीं होगा. मेरा मानना है कि शहरों आदि के नामों के पीछे कोई हिस्ट्री भी होती है.'

DO NOT MISS