Politics

चंदा कोचर ने ICICI बैंक के CEO पद से दिया इस्तीफा, संदीप बख्शी को बनाया गया नया MD और CEO 

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

आईसीआईसीआई बैंक की प्रबंध निदेशक चंदा कोचर ने तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. शेयर बाजार के साथ गुरुवार को साझा की गई सूचना के अनुसार बैंक के निदेशक मंडल ने कोचर का त्यागपत्र स्वीकार कर लिया है. बैंक ने कहा, ''निदेशक मंडल ने कोचर का त्यागपत्र तत्काल प्रभाव से स्वीकार कर लिया है. निदेशक मंडल द्वारा की जा रही जांच पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा.'' 

बोर्ड ने संदीप बख्शी को बैंक का प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त करने का निर्णय किया है. बख्शी का कार्यकाल पांच साल यानी तीन अक्टूबर 2023 तक होगा.

देखें बैंक के द्वारा जारी किया गया स्टेटमेंट -

बता दें, चंद्रा कोचर के द्वारा इस्तीफा देने के तुरंत बाद ICICI बैंक के शेयर लगभग 6 प्रतिशत तक गिर गए. बता दें, ये पूरा विवाद ICICI बैंक के द्वारा साल 2012 में वीडियोकॉन ग्रुप को दिए गए 3250 करोड़ रुपए के लोन को लेकर है. जिसमें CBI जांच कर रही है. 

इससे पहले अप्रैल में चंद्रा कोचर के पति दीपक कोचर को इनकम टैक्स के द्वारा एक नोटिस भेजा गया था. जिसमें उनके नीजि इनकम के बारे में पूछा गया था. इसके साथ उन्हें 15 दिनों के भीतर इसका जवाब देने के लिए कहा गया था. 

सूत्रों ने रिपब्लिक टीवी को बताया है कि इनकम टैक्स की एक शाखा ने मॉरिशस के टैक्स अथॉरिटी से DH Renewables Holding Ltd के ऑनरशिप के बारे में पूछा था. बता दें, दीपक कोचर की कंपनी NuPower Renewables Holding Ltd में DH Renewables Holding Ltd के मेजर शेयर है. यही इस पूरे विवाद का मुख्य कारण है. इससे पहले 3 अप्रैल को I-T Department ने NuPower Renewables को आईटी एक्ट के सेक्शन 131 के तहत नेटिस भेजा था.

बता दें, ये पूरा मामला कॉन्फ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट का बताया जा रहा है जिसमें दीपक कोचर की कंपनी NuPower Renewables ने 50-50 प्रतिशत पर वीडियोकॉन के हेड वेणुगोपाल धूत के साथ एक जॉइंट वेंचर की शुरूआत की थी. यह आरोप लगाया गया है कि आईसीआईसीआई बैंक ने अपने कॉर्पोरेट एमडी सीईओ के पति की कंपनी को आवश्यक कॉर्पोरेट प्रशासन मानदंडों का उल्लंघन करने के लिए लोन बढ़ाया था.

DO NOT MISS