Politics

'धैर्य का समय खत्म हुआ, सरकार को राम मंदिर के लिए कानून लाना चाहिए': मोहन भागवत

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा धैर्य का समय अब खत्म हुआ और अगर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मामला उच्चतम न्यायालय की प्राथमिकता में नहीं है तो मंदिर निर्माण कार्य के लिए कानून लाना चाहिए. राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर यहां विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की ओर से आयोजित एक रैली में भागवत ने कहा कि यह ‘‘आंदोलन का निर्णायक चरण’’ है. उन्होंने कहा, ‘‘एक साल पहले मैंने स्वयं कहा था कि धैर्य रखें. अब मैं ही कह रहा हूं कि धैर्य से काम नहीं होगा. अब हमें लोगों को एकजुट करने की जरूरत है. अब हमें कानून की मांग करनी चाहिए.’’ 

भागवत ने कहा, ‘‘चाहे जो भी कारण हो क्योंकि अदालत के पास समय नहीं है या राम मंदिर मामला उनकी प्राथमिकता में नहीं है अथवा संभवत: वह समाज की संवेदनशीलता को नहीं समझ पा रही है. ऐसे में सरकार को चाहिए कि वह इस बारे में विचारे कि मंदिर निर्माण के लिए कैसे एक कानून लाया जाए... कानून जल्द से जल्द लाया जाना चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब यह आंदोलन का निर्णायक चरण है.’’

वहीं विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने रविवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए समर्थन जुटाने के मद्देनजर संगठन छह दिसंबर तक हर लोकसभा क्षेत्र में सभाएं आयोजित करेगा. यहां एक रैली में उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए विहिप सांसदों से कानून बनाने की मांग करेगा. आलोक कुमार ने कहा कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मुद्दे को लेकर 1950 में जब से पहला मामला दर्ज हुआ तब से अब तक मामला चल ही रहा है.

गौरतलब है कि राम मंदिर मुद्दे को तेज करने के लिए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे दो दिन के दौरे पर अयोध्या पहुंचे थे. उद्धव ठाकरे ने भी अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर केंद्र सरकार से अध्यादेश लाने की बात कही. इन दिनों शिवसेना के द्वारा 'पहले मंदिर फिर सरकार' का नारा भी दिया जा रहा है.

उद्धव ने अयोध्या में रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि 'दिन गुजर गए.. साल गुजर गए.. लेकिन राम मंदिर नहीं बना.. आज मैं जब दर्शन के लिए गया .. योगी जी ने कहा था मंदिर है था और रहेगा.. अध्यादेश लाओ.. कानून बनाओ.. शिवसेना तो आपका साथ दे रही है.. कुछ भी करो मंदिर जल्दी बनाओ.. सारे हिंदू.. अटल जी ने कहा था हिंदू मार नहीं खाएगा.. हिंदू जरूर पूछेगा कि मंदिर कब बनेगा..'

वहीं सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले की सुनवाई को जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है. पहले ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि अयोध्या मामले पर 2019 लोकसभा चुनाव से पहले फैसला आ सकता है.

DO NOT MISS