Politics

लोकसभा चुनाव से पहले NDA को लगा तगड़ा झटका , उप्रेंद कुशवाहा ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

राष्ट्रीय लोक समाज पार्टी के अध्यक्ष कुशवाहा ने एनडीए गठबंधन से खुद को अगल होने का ऐलान करते हुए  मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है. बता दें कि कुशवाहा ने शीतकालीन सत्र से पहले एनडीए की आज होने वाली बैठक में शामिल होने से साफ इनकार कर दिया था . कुशवाहा के इस कदम से 40 लोकसभा सीटों वाले बिहार में राजनीतिक समीकरण बदल सकते हैं.     


लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइडेट के बीच आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव बराबर सीटों पर लड़ने का फैसला हुआ है. और आरएसएसपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में दो से ज्यादा सीटे नहीं मिलने के बीजेपी के संकेतों के बाद से कुशवाहा नाराज चल रहे थे. इसी क्रम में कुशवाहा ने पिछले कुछ हफ्तों से भाजपा और उसके अहम सहयोगी दल के नेता , बिहार के मुख्यमंत्रई नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं.


कुशवाहा की यह नाराजगी के पीछे एनडीए में JDU का शामिल होना माना जा रहा है. जब से नीतीश कुमार ने बीजेपी का दामन वापस से थामा है उपेंद्र कुशवाहा के बागी सुर निकलने लगे थे.  

यह भी पढ़े - बिहार में BJP -JDU बराबर सिटों पर चुनाव लडने के ऐलान के बाद उप्रेंद्र कुशवाहा से मिले तेजस्वी यादव

उपेंद्र कुशवाहा ने इससे पहले बिहार में एनडीए के खिलाफ चुनाव लडेने के भी संकेत दे चुके हैं गुरुवार को मोतिहारी में कुशवाहा ने कहा था कि लोग हमारे भविष्य की रणनीति को लेकर आस लगाए बैठे हैं. उनको मैं साफ़ करना चाहता हूं कि सुलह-समझौता करने के उनके सभी प्रयासों को अब तक सफलता नहीं मिली है. इसलिए आने वाले दिनों में उन्होंने रामधारी सिंह दिनकर की एक कविता की पंक्तियां बोली कि 'अब याचना नहीं रण होगा संघर्ष बड़ा भीषण होगा.'

बता दें कि कुशवाहा मोदी कैबिनेट से इस्तीफा देने के बाद ऐसी अटकलें हैं कि आरएलएसपी विपक्ष गठबंधन से हाथ मिला सकती है, जिसमें लालू प्रसाद की आरजेडी और कांग्रेस शामिल हैं. 

 

ह भी पढ़े- तेजस्वी और उपेंद्र कुशवाहा की मुलाकात पर बरसे चिराग पासवान, CM नीतीश से मिलकर की सीट बंटवारे पर बात

 

यह भी पढ़े -उपेंद्र कुशवाहा के बागी तेवर के बीच आज NDA से अलग हो सकती है RLSP

 


 

DO NOT MISS