Elections 2018


Politics

उपेंद्र कुशवाहा के बागी तेवर के बीच आज NDA से अलग हो सकती है RLSP

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

देश में चुनावी बिगुल बज चुका है. हालांकि फिलहाल पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहा है. आगामी 11 तारीख को इन पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे आने हैं. राजनीति सरगर्मी के बीच सियासी माहौल फिलहाल तो खत्म नहीं होने वाला है. दरअसल 2019 का लोकसभा चुनाव भी जौसे-जैसे नजदीक आ रहा है. राजनीतिक गलियारों में हो-हल्ला तेज होता जा रहा है. चुनाव में अपना बूता दिखाने के मकसद से हर कोई अपने-अपने पैंतरें अपना रहा है.

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) आज NDA सरकार से अलग हो सकती है और पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बुधवार को कहा कि इस संबंध में औपचारिक घोषणा गुरूवार को किए जाने की आशंका है.

नाम सामने नहीं लाने की शर्त पर नेता ने कहा कि कुशवाहा के केंद्रीय मंत्री पद से भी इस्तीफा देने की संभावना है. गौरतलब है कि उपेंद्र कुशवाहा अभी केंद्र में मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री हैं.

नेता ने कहा कि कुशवाहा का इस्तीफा महज एक औपचारिकता है जो उनके राष्ट्रीय राजधानी जाने और प्रधानमंत्री से मिलने के बाद पूरी कर ली जाएगी. RLSP ने बुधवार को नरेंद्र मोदी सरकार और बिहार में नीतीश कुमार सरकार की तीखी आलोचना की. वाल्मीकि नगर में पार्टी के चिंतन शिविर में कुशवाहा को राजनीतिक फैसले लेने के लिए अधिकृत किया गया.

कुशवाहा गुरुवार को मोतिहारी में एक रैली को संबोधित करेंगे.

पार्टी नेता ने कहा कि RLSP के सख्त रुख से ये साफ हो गया है कि हमारा गठबंधन NDA के साथ था जो अब खत्म हो गया है. उन्होंने कहा कि NDA में RLSP के होने का अर्थ BJP और LJP से गठबंधन था. नीतीश कुमार की JDU के साथ हमारा कोई गठबंधन नहीं है. वो पिछले साल गठबंधन में शामिल हुए हैं जबकि हम 2014 से ही NDA का हिस्सा हैं.

लाजमी है ये नाराजगी आम बात नहीं है. इस फूट के पीछे NDA में JDU का शामिल होना ही असल वजह है. असली माजरा तो ये है कि RLSP को JDU और BJP की करीबी रास नहीं आ रही है. शायद यही वजह है जब से नीतीश कुमार ने बीजेपी का दामन वापस से थामा है उपेंद्र कुशवाहा के बागी सुर निकलने लगे. कहीं न कहीं इसमें सबसे बड़ी वजह आगामी लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे पर हुआ ऐलान भी हो सकती है.

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS