Politics

रिपब्लिक ने राफेल पर CAG रिपोर्ट किया एक्सेस: NDA का सौदा UPA के गैर-सौदे से 2.86% सस्ता है

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

रिपब्लिक भारत ने बुधवार को राफेल सौदे पर पूर्ण नियंत्रक और महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट को एक्सेस किया। रिपोर्ट, जिसे संसद में पेश किया जाना है, उसका शीर्षक है भारतीय वायु सेना में कैपिटल एक्विजिशन पर कैग की परफॉरमेंस ऑडिट रिपोर्ट।

126 पेज के इस रिपोर्ट में भारत-फ्रांस के साथ 36 राफेल विमानों की खरीद की बात की गई है। रिपोर्ट का मुख्य आकर्षण राजनीतिक मूल्य पर चल रहे राजनीतिक तूफान का है, जिसकी कीमत - यूपीए की बातचीत में गैर-सौदे के कीमत के तुलना में मौजूदा NDA सरकार के सौदे में कीमत - सस्ती है। CAG रिपोर्ट के पेज 136 और 137 पर निष्कर्ष निकाल रहा है कि मई 2015 में NDA की सरकार में हुए राफेल सौदे की कीमत 2007 की तुलना में 2.86% कम है। कीमत निर्धारण की बारीकियों को फिर से परिभाषित किया गया है:

तालिका के मुताबिक, NDA के लिए सौदे के कौन से घटक सस्ते हैं और कौन सा यूपीए के मूल्य में सस्ता था:-

a) फ्लाईवे एयरक्राफ्ट पैकेज : कोई अंतर नहीं
b) सर्विस, प्रोडक्ट-परिचालन सहायता उपकरण (OSE) और तकनीकी सहायता, प्रलेखन, कार्यक्रम प्रबंधन : NDA सौदा 4.77% सस्ता
c) इंडिया स्पेसिफिक संवर्धन : NDA सौदा 17.08% सस्ता
d) स्टैंडर्ड्स ऑफ प्रिपरेशन : कोई अंतर नहीं
e) इंजीनियरिंग सपोर्ट पैकेज : NDA सौदा 6.54% अधिक महंगा है
f) परफॉर्मेंस बेस लॉजिस्टिक्स : NDA सौदा 6.54% अधिक महंगा है
g) उपकरण, परीक्षक और ग्राउंड उपकरण (TTGE) : NDA 0.15% अधिक महंगा है
h) वेपन पैकेज : NDA सौदा 1.05% सस्ता है
i) रोल उपकरण : कोई अंतर नहीं​​​​​​​
j) सिम्युलेटर और सिम्युलेटर ट्रेनिंग ऐड वार्षिक मेंटेनेंस : कोई अंतर नहीं

इन सभी लाइन में मौजूद सभी वस्तुओं के बारे में इस रिपोर्ट विस्तार से उल्लेख किया गया है। 2007 और 2015 के बीच कीमतों की तुलना करने की कार्यप्रणाली भी इसके लिए समर्पित एक उप-खंड है:

141-पन्नों की इस CAG रिपोर्ट में 126वें पेज पर राफेल सौदे का उल्लेख किया गया है।

रिपोर्ट के राफेल अनुभाग का पहला पृष्ठ सौदे के मुख्य विवरण में जाता है:

राफेल पर अनुभाग भी कई विशिष्ट विषयों को संबोधित करते हैं, जिसमें सॉवरेन गारंटी की बात भी शामिल है:

 

DO NOT MISS