Politics

EXCLUSIVE: कर्नल राठौर ने विपक्ष के आरोपों की उड़ाई धज्जियां, ''इसमें कोई बिचौलिया नहीं था. ये सरकार का अधिकार है''

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

MoS (स्वतंत्र) युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि मोदी सरकार ने सशस्त्र बलों के अनुरोधों पर ध्यान दिया और सत्ता में आने के बाद कुछ ही महीनों के भीतर, राफेल सौदा पूरा किया.

मंत्री राठौर ने विपक्षी पार्टी के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए करारा हमला किया. कर्नल राठौर ने कांग्रेस के उन आरोपों पर कटाक्ष किया जिसमें पार्टी ने वर्तमान सरकार पर ये आरोप लगाया था कि राफेल की कीमतें बढ़ाई गई हैं.

मोदी सरकार में मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी से बात करते हुए कांग्रेस को अफवाह फैलाने वाली पार्टी करार दिया. साल 2019 का लोकसभा चुनाव नजदीक है. ऐसे में सियासी पारा काफी गरम है. इस बीच नेशन वांट्स टू नो प्रोग्राम में शरीक हुए राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कांग्रेस के आरोपों की धज्जिया उड़ा दी.

राठौर ने कहा कि राफेल सौदे पर सीधे रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रिकॉर्ड बनाया और अपने दावों को दोहराया है. कांग्रेस पार्टी विमान सौदे पर बीजेपी से सवाल करने का कोई अधिकार नहीं है, क्योंकि वे अपने कार्यकाल के दौरान सौदे को पूरा करने में विफल रहे.

उन्होंने कहा, "2007 के बाद से सशस्त्र बलों ने विशेष रूप से वायु सेना को और अधिक वायुयानों की मांग की है. वे अधिक हवाई जहाज क्यों मांग रहे हैं? क्योंकि चीन में 400 अधिक विमान हैं. भारतीय वायु सेना पिछड़ रही है. UPA सरकार अपने कार्यकाल में इस सौदे को पूरा करने में पूरी तरह से विफल रही लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद सत्ता में आते ही हमने प्रक्रिया तेज कर दी.

मंत्री ने कहा, "वे विफल रहे हैं. शासन क्या है? शासन राष्ट्र को मजबूत बनाए रखने की क्षमता है. वे असफल रहे. वे किस मूल्य की बात कर रहे हैं? मूल्य जो उन्होंने उत्पाद नहीं खरीदा था .... उन्हें कीमत पर सवाल उठाने का अधिकार नहीं है. हमने उसने कम कीमतों पर सौदा किया और खरीदा. उन्होंने तो खरीदा भी नहीं उनके शासन में सौदे को लेकर बातचीत विफल रही. हमने राफेल का सौदा सफलता पूर्वक किया और इसे खरीदा जिसकी आवश्यकता थी.''

कांग्रेस के आरोपों पर लताड़ते हुए राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा कि इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बावजूद, कांग्रेस पार्टी ने सरकार पर अपना हमला जारी रखा है. उन्होंने कहा कि इस सौदे में 'कोई बिचौलिए' का खुलासा नहीं किया है और ना ही ये साबित हुआ है कि कोई भ्रष्टाचार हुआ.

उन्होंने कहा, "ये मामला सुप्रीम कोर्ट में गया और उन्होंने साफ तौ पर कहा कि इसकी प्रक्रियाएं स्पष्ट हैं. अब तक की सभी रक्षा खरीद में बिचौलिया हुआ करते थे लेकिन इस प्रक्रिया में कोई बिचौलिया नहीं है. ये सरकार का अधिकार है."

(रिपब्लिक टीवी के एडिटर- इन- चीफ अर्नब गोस्वामी से केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड ने की EXCLUSIVE बातचीत . देखें  'नेशन वांट्स टू नो' प्रोग्राम में शनिवार सुबह 9 बजे और रविवार सुबह 11, शाम 7 बजे )

DO NOT MISS