Politics

राहुल गांधी के धार्मिक सुर, कहा- ''PM मोदी को नहीं मालूम क्या होता है हिंदुत्व''

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

राजनीतिक महकमे में जब तक धर्म और जाति जैसे मुद्दों को हवा नहीं मिलती तब तक मानों काम अधूरा है. हिंदू, मुस्लिम, जाति, गोत्र, जनेऊधारी... ऐसे मसलों पर टिप्पणी के बना राजनीतिक गलियारा सुनसान पड़ा रहता है. जाहिर है ऐसे मसालेदार मुद्दों पर राजनीति का आज-कल ट्रेंड चल रहा है. इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ये आरोप लगाया है कि वो हिंदुत्व के बारे में नहीं जानते हैं.

राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि पीएम मोदी को ये मालूम नहीं है कि हिंदुत्व क्या होता है. इसके साथ ही राहुल ने पीएम मोदी के खिलाफ ज़हर उगलते हुए बोला कि चुनाव की में वोट की मंशा के लिए प्रधानमंत्री मोदी हिंदू कार्ड खेलते हैं.

पीएम मोदी पर तीखा हमला करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर हिंदुत्व का मतलब नहीं पता होने का आरोप लगा दिया. 

अपने बयान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर होते हुए राहुल गांधी ने कहा, ''हिंदुत्व का महत्व क्या है. मोदी जी आप कृपया हिंदूत्व के बारे में पढ़ें. गीता में लिखा है कि हर किसी के पास ज्ञान है. ज्ञान यहां हर किसी के पास है. ज्ञान इनके पास.. उनके पास.. सबके पास.. हर जीव के पास ज्ञान है.. और हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि मैं हिंदू हूं. और जो हिंदूत्व की नींव है उसे नहीं समझते हैं. किस प्रकार के हिंदू हैं ? उन्हें ये मालूम नहीं है कि हिंदुत्व क्या होता है. वो हर चुनाव में हिंदू कार्ड खेलते हैं. ''

ये कोई पहली दफा नहीं है जब राहुल गांधी हिंदूत्व को लेकर कोई बयान दिया है. इससे पहले भी राहुल गांधी कभी खुद को जनेऊधारी हिंदू बताते हैं. इसके अलावा गोत्र को लेकर भी राहुल गांधी को सियासी दंगल का सामना करना पड़ा था.

बता दें, इससे पहले राहुल गांधी ने खुद को जनेऊधारी हिंदू बताया था. जिसके बाद राजनीतिक महकमें जमकर शोर-गुल मचा हुआ था. बीजेपी और आरएसएस ने राहुल गांधी पर कई हमले किए थे. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी राहुल को "छद्मभेषी" करार दिया था. उन्होंने यह भी कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा खुद को जनेऊधारी के रूप में प्रस्तुत करना भाजपा की वैचारिक विजय है.

आदित्यनाथ ने कहा था, "राहुल मीडिया को बता रहे हैं कि वह जनेऊ पहनते हैं. लेकिन हमारे धर्म में मंदिर जाने के लिये जनेऊ पहनना कोई अनिवार्य शर्त नहीं है और कोई भी हिंदू मंदिर जा सकता है."

बता दें, राहुल गांधी के मंदिर-मंदिर घूमने से बीजेपी लगातार हमलावर होते हुए उनसे कभी उनके हिंदु होने का प्रमाण मांगती रही तो कभी गोत्र पूछने लगी.

DO NOT MISS