Politics

राफेल डील: राहुल गांधी के आरोपों पर BJP का पलटवार, "जिनका पूरा परिवार ही भ्रष्ट है वो आज दूसरों पर उंगली उठा रहें है"

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

 राफेल सौदे (Rafale Deal) को लेकर फ्रांस की खोजी खबरों की वेबसाइट 'मीडियापार्ट' के नये एक बार फिर इस सौदे को लेकर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस आमने - सामने हैं. कांग्रेस अध्यक्ष ने 'मीडियापार्ट' के रिपोर्ट को आधार बनाते हुए मोदी सरकार पर कई हमले किए. जिसका अब बीजेपी ने पलटवार किया है.

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए राहुल गांधी को आरोपों पर करारा पलटवार किया.   उन्होंने कहा कि देश की जनता जान चुकी है की झूठ और फरेब पर भ्रम की स्थिति पैदा करके जिस प्रकार की अपनी राजनीतिक इमारत बनाने की कोशिश राहुल गांधी कर रहे है यह संभव नहीं है. राहुल गांधी जी अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में वही रटा रटाई बातें दोहराते हैं... 

उन्होंने आगे राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अनिल अंबानी का पीएम बताया जाने पर अपत्ति जातते हुए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को 'मीडिल मैन' करारा दिया.

संबित ने आगे कहा कि राहुल गांधी का पूरा परिवार भ्रष्टाचार में लिप्त है. अपने आप को देश के सुप्रीम कोर्ट, भारत और फ्रांस की सरकार और साथ ही एयर चीफ मार्शल से भी बढ़ा समझकर देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहें है..

बीजेपी प्रवक्ता ने आगे कहा कि एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने राफेल डील को 'game changer' डील बताया है, वही दूसरी ओर राहुल गांधी इसके विपरीत कह रहें है. अब देश की जनता तय करे कि वो किस पर विश्वास करेगी एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ पर या राहुल गांधी पर?

उन्होंने कहा कि  झूठ पकड़े जाने के बाद भी दोबारा झूठ कहने की हिम्मत अगर इस देश में किसी की है तो वो राहुल गांधी जी की है. जिनका पूरा परिवार ही भ्रष्ट है वो आज दूसरों पर उंगली उठा रहें है 

'मीडियापार्ट' के दावे पर क्या बोले राहुल गांधी 

राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने अनिल अंबानी की कंपनी को 30,000 करोड़ रुपए का फायदा पहुंचाया है. राहुल गांधी ने कहा, ''अनिल अंबानी जी 45000 करोड़ रुपए के कर्जे में हैं. 10 दिन पहले कंपनी खोली और प्रधानमंत्री जी ने 30,000 करोड़ रुपया हिन्दुस्तान की जनता का पैसा, एयरफोर्स का पैसा अनिल अंबानी की जेब में डाला है. 

इसके साथ ही राहुल बोले, ''ये हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री नहीं है पता चला ये अंबानी के प्रधानमंत्री हैं. युवा रोजगार खोज रहे हैं और प्रधानमंत्री जी अनिल अंबानी जी की चौकीदारी कर रहे हैं. देश में मुख्य मुद्दा भ्रष्टाचार का है और प्रधानमंत्री जी इस पर कुछ नहीं बोल रहे हैं. पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति और अब राफेल के सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव ने साफ कह दिया है कि राफेल सौदे के बदले डसॉल्ट को रिलायंस से डील करने को कहा गया''

DO NOT MISS