Politics

कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, प्रिया दत्त का बड़ा ऐलान- ''नहीं लड़ूंगी 2019 का लोकसभा चुनाव''

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

कांग्रेस पार्टी की पूर्व सांसद प्रिया दत्त आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में अपनी दावेदारी नहीं पेश करने का फैसला ले लिया है. प्रेस विज्ञप्ति जारी कर के प्रिया दत्त ने इस बात की आधिकारिक पुष्टि कर दी है कि वो आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी. 

काफी दिनों से इस बात को लेकर संशय बना हुआ था कि क्या प्रिया चुनाव लड़ेगी या नहीं लेकिन प्रिया ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखा है और 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने के अपने फैसले से उन्हें अवगत कराया है.

इस पत्र में प्रिया ने कई मसलों का जिक्र किया है. उन्होंने मुंबई कांग्रेस की गुटबाजी की भी बात कही है. बता दें, पूर्व सांसद प्रिया दत्त अभिनेता से नेता बने स्व. सुनील दत्त की बेटी और अभिनेता संजय दत्त की बहन हैं.

प्रिया दत्त इस बार लोकसभा चुनाव लड़ने का मूड बना लिया है. इस बात का अंदाजा प्रिया के पत्र से लगाया जा सकता है. प्रिया दत्त ने निजी कारणों का हवाला देते हुए पार्टी हाईकमान को चुनाव न लड़ने की अपनी इच्छा बता दी है. 

गौरतलब है कि प्रिया दत्ता ने अपने पिता सुनील दत्त के निधन के बाद मुंबई उत्तर मध्य संसदीय क्षेत्र से दो बार अपनी किस्मत आजमा चुकी हैं. पहली बार तो उन्होंने इस सीट पर फतेह हासिल कर ली थी. लेकिन साल 2014 क लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के चलते उनको बीजेपी की पूनम महाजन से करारी हार का सामना करना पड़ा था.

सोमवार को प्रिया दत्त ने इस बात की आधिकारिक घोषणा भी कर दी है कि वो चुनाव नहीं लड़ेंगी. इस घोषणा पत्र में उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया है कि वो तीन चुनाव लड़ना चाहती थी लेकिन कुछ वजह के चलते उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला ले लिया. 

काफी दिनों से प्रिया दत्त को लेकर ऐसी ख़बरें आ रही थी कि उनका मन कांग्रेस से कुछ उखड़ा-उखड़ा है. इसके पीछे एक वजह ये भी हो सकती है कि 2014 चुनाव में मात मिलने के बाद से ही प्रिया राजनीति में उतनी सक्रिय नज़र नहीं आ रही थी. तभी शायद  कांग्रेस नेतृत्व ने सितंबर 2018 में प्रिया दत्त को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के सचिव पद की जिम्मेदारी पद से हटा दिया था.

इसे भी पढ़ें - वायरल वीडियो: दिवाली पार्टी के बाद बाहर खड़े फोटोग्राफर से भिड़े संजय दत्त, दी भद्दी- भद्दी 'गालियां'

प्रिया दत्त के इस फैसले के बाद कांग्रेस के लिए मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. मुंबई के नॉर्थ सेंट्रल सीट पर प्रिया की जगह कोई दूसरा मजबूत दावेदार ढूंढना कांग्रेस के लिए आसान नहीं होगा. वो भी उस वक्त जब बीजेपी-शिवसेना के बीच एक जंग छिड़ी दिखाई दे रही हो. कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी और शिवसेना के इस तनानती का फायदा प्रिया को इस सीट पर सीधे तौर से पहुंच सकता है. लेकिन कांग्रेस के लिए इस सीट पर प्रबल दावेदार ढूंढना ही सबसे बड़ी चुनौती होगी.

DO NOT MISS