Politics

कुलदीप सिंह सेंगर को सत्ता के संरक्षण के वंचित कराएं PM मोदी : प्रियंका गांधी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

उन्नाव बलात्कार मामले की पीड़िता के एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने की घटना की पृष्ठभूमि में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा कि इस मामले के मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर जैसे ‘अपराधी’ को मिल रहे कथित सरकारी संरक्षण से वंचित किये जाने की पहल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को करना चाहिए।

प्रियंका ने ट्वीट कर पूछा, ‘‘कुलदीप सेंगर जैसे लोगों को हम राजनीतिक सत्ता की ताकत और संरक्षण क्यों देते हैं और पीड़िता को अपनी जिंदगी के लिए लड़ने को अकेले क्यों छोड़ देते हैं?’’ उन्होंने सड़क दुर्घटना मामले में दर्ज प्राथमिकी का हवाला देते हुए आरोप लगाया, ‘‘यह प्राथमिकी साफ तौर पर दिखाती है कि परिवार डरा हुआ था। इसमें यह भी जिक्र है कि वह सुनियोजित दुर्घटना थी।’’

यह भी पढ़ें- यूपी सरकार ने उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की दुर्घटना की जांच CBI को सौंपने की सिफारिश की

प्रियंका ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी, कृपया इस अपराधी और उसके भाई को मिल रहे राजनीतिक सत्ता के संरक्षण से वंचित कराइए, जो आपकी पार्टी ने उसे दे रखा है। अभी भी बहुत देर नहीं हुई है।’’

यह भी पढ़ें - उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट मामले में BJP विधायक सेंगर पर हत्या का केस दर्ज

गौरतलब है कि गत रविवार को हुए सड़क हादसे में उन्नाव बलात्कार मामले की पीड़िता गंभीर रूप से घायल हो गई। हादसे में पीड़िता की मौसी, चाची और ड्राइवर की मौत हो गई। पीड़ित महिला और उसके वकील को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर मामले के मुख्य आरोपी हैं।

उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली पीड़िता की रायबरेली में हुई सड़क दुर्घटना की जांच सीबीआई को सौंपेने की सोमवार देर रात सिफारिश कर दी। 

प्रधान गृह सचिव अरविंद कुमार ने बताया, ‘‘(उप्र)सरकार ने रायबरेली जिले के गुरबख्शगंज थाना में आईपीसी की धारा 302,307, 506,120 के तहत दर्ज अपराध संख्या 305/2019 की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है। इस बारे में एक औपचारिक अनुरोध भारत सरकार को भेजा गया है।’’ 

इससे पहले, प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने संवाददाताओं से कहा था कि अगर पीड़िता की मां या अन्य कोई रिश्तेदार अनुरोध करेंगे, तो राज्य सरकार रायबरेली में हुई इस दुर्घटना की सीबीआई जांच कराने को तैयार है।

 

DO NOT MISS