Politics

"जो मां बेटे रुपयों की हेराफेरी में जमानत पर घूम रहें है, वो आज दूसरों से प्रमाण मांग रहे हैं" - पीएम मोदी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 18 सीटों पर एक तरफ जहां मतदान जारी है, वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक पार्टियां राज्य में दूसरे चरण में होने वाले मतदान की तैयारी में जुट गई हैं. इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिलासपुर जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित किया.

पीएम मोदी ने यहां से विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और कहा कि हमारे विरोधी दलों को अभी तक समझ नहीं आ रहा है कि भारतीय जनता पार्टी के साथ मुकाबला कैसे करें.

राज्य में 20 नवंबर को होने वाले दूसरे चरण के मतदान से पहले यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने विकास की जोरदार पैरवी की . उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा नीत सरकार के मुकाबले कांग्रेस के शासनकाल में विकास की गति ‘बहुत धीमी’ थी

पढ़ें पीएम मोदी के भाषण के मुख्य बातें..

  • कांग्रेस पार्टी की पूरी की पूरी राजनीति एक परिवार से शुरू होकर उसी परिवार में आकर पूरी हो जाती है और हमारी राजनीति गरीब की झोपड़ी से शुरू होती है, गरीब की जिन्दगी को बदलकर रहे बिना चैन से सोना नहीं इस इरादे से आगे चलती है
  • जो मां बेटे रुपयों की हेराफेरी में जमानत पर घूम रहें है, वो आज मोदी से प्रमाण मांग रहे हैं 
  • मतदान करना ये लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव होता है और मुझे विश्वास है कि बम, बंदूक और पिस्तौल का दम दिखाने वालों को लोकतंत्र की ताकत जवाब दे करके रहेगी 
  • मुझे विश्वास है बन्दूक और पिस्तौल का दम दिखाने वालों को लोकतंत्र की ताकत आज जवाब देकर रहेगी
  • इस बार छत्तीसगढ़ को भारी मतदान करके एक नया रिकॉर्ड प्रस्थापित करना चाहिए
  • हमारे पास विकास का मजबूत इतिहास है, हर तराजू पर जिसे तोला जा सकता है, जिसे हर मानदंड से मापा जा सकता है, हमने हर कसौटी पर विकास के मुद्दे पर परिणाम हासिल किए हैं, परिवर्तन हासिल किया है
  • मैं इलेक्शन कमीशन को बधाई देता हूं कि वह अधिक मतदान के लिए प्रयास कर रहा है, लोगों को जागरूक कर रहा है.  हमारा मत है देश के अंदर बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, किसान को सिंचाई और बुजुर्गों को दवाई का पूरा प्रबंध होना चाहिए
  • यह छत्तीसगढ़ संत परंपरा की भूमि है, यह श्रद्धेय गुरू घासीदास की भूमि है, यह सतनाम परंपरा की जन्मस्थली है. लोकतंत्र में मतदान हर किसी का कर्तव्य है. मतदान करना लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव होता है . 
  • एक ही मंत्री देकर राजनीति को नई दिशा देने में सफल हुई है और वो है सबका साथ, सबका विकास...
  • इस देश में सन 1952 से अनेक चुनाव हुए लेकिन हर चुनाव जाति-बिरादरी के नाम पर लड़ा गया, परिवार के नाम पर लड़ा गया . मेरे-तेरे के बंटवारे पर लड़ा गया, गांव और शहर को बांटकर लड़ा गया, अमीर और गीरब की खाई पैदा कर लड़ा गया
  • बीजेपी ने तय किया अगर इस देश को विकास, समृद्धि की तरफ ले जाना है . गांव, गरीबों को हक दिलाना है तो देश को जात-पात के बंटवारे से बाहर लाना पड़ेगा

 

DO NOT MISS