Politics

PM मोदी ने केएमपी एक्सप्रेस-वे को किया राष्ट्र को समर्पित, कहा- 'कॉमन वेल्थ खेल में होना था इसका इस्तेमाल'

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कुंडली- मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे राष्ट्र को समर्पित किया. साथ ही पीएम ने बल्लभगढ़ मुजेसर मेट्रो लाइन की शुरूआत करते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सरकार में जिस तरह काम हुआ, वो एक केस स्टडी है कि कैसे जनता के पैसे को बर्बाद किया जाता है.

पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि जब ये प्रोजेक्ट :एक्सप्रेस वे: शुरू हुआ था, तो अनुमान लगाया गया था कि इस पर 1200 करोड़ रुपए खर्च होंगे लेकिन सालों की देरी के चलते इसकी लागत बढ़कर 3 गुना से ज्यादा हो गई. अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘लोग वही हैं, काम करने वाले वही हैं, कार्यालय वही है. लेकिन जब इच्छाशक्ति हो, संकल्पशक्ति हो, तो कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है.’’

उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र में बढ़ता संपर्क अपने साथ, रोजगार के नए अवसर भी लेकर आता है. हाईवे निर्माण, मेट्रो या रेल का बनना, जल मार्ग का विकसित होना, एक पूरी पारिस्थितिकी बनाता है. इसका फायदा परिवहन, निर्माण से लेकर विनिर्माण और सर्विस सेक्टर तक को होता है.

पीएम मोदी ने कहा कि यही वजह है कि जहां साल 2014 से पहले देश में एक दिन में सिर्फ 12 किलोमीटर हाईवे बनते थे, वहीं आज करीब 27 किलोमीटर हाईवे का रोजाना निर्माण हो रहा है.

कारोबार सुगम माहौल का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार देश में कारोबारियों को ताकत देना चाहती है, युवाओं को गति देना चाहती है. युवाओं के विचारों को आगे बढ़ाने में पूंजी की कमी न हो, इसका ध्यान रखा जा रहा है. स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया योजनाएं इसी सोच के साथ चल रही हैं.

मोदी ने कहा कि अभी कुंडली- मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे को देश को समर्पित करने का मौका मिला है. इसका पहला चरण 2 वर्ष पहले पूरा हो गया था. दूसरा चरण, कुंडली से मानेसर तक 83 किलोमीटर लंबा है. इस चरण का आज लोकार्पण किया गया है. इसके साथ ही 135 किलोमीटर का एक्सप्रेस वे पूरा हो गया है.

उन्होंने कहा कि करीब 500 करोड़ रूपये की लागत से बनी बल्लभगढ़-मुजेसर मेट्रो लाइन की शुरुआत भी हो गई है. ये दोनों योजनाएं जहां कनेक्टिविटी को लेकर इस क्षेत्र में नई क्रांति लाएंगी वहीं श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के जरिए यहां के युवाओं को नई ताकत मिलेगी.

मोदी ने कहा कि आज का अवसर दो तस्वीरों को याद करने का भी है. एक तस्वीर वर्तमान की है जो BJP सरकारों की कार्यसंस्कृति और हमारे काम करने के तरीके की है. वहीं दूसरी तस्वीर हमें बताती है कि पूर्ववर्ती सरकार के समय में कैसे काम होता था.

उन्होंने कहा, ‘‘इस एक्सप्रेस-वे का इस्तेमाल कामनवेल्थ गेम्स में होना था. लेकिन कामनवेल्थ खेल की जो गति की गई, वही कहानी इस एक्सप्रेस वे की भी है.’’

PM मोदी के तीखे हमले पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए ये दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने राज्य में ‘आधे-अधूरे’ कुंडली-मानेसर-पलवल (केएसमपी) एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया है. जो राहगीरों की जान जोखिम में डालने वाला कदम है.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘मोदी जी और खट्टर साहब, आधे अधूरे केएमपी का उद्घाटन कर हज़ारों राहगीरों की जान जोखिम में क्यों डालने जा रहे हैं? कंसल्टैंट और एचएसआईडीसी का कम्प्लीशन सर्टिफ़िकेट कहां है? इंजीनियर की जांच के बगैर इसे आंशिक व्यावसायिक शुरुआत कैसे मान सकते हैं?’’ 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘अधूरे केएमपी के उद्घाटन का कारण क्या चुनाव के मद्देनजर खुद की तारीफ़ और हाइवे बनाने वाली प्राइवेट कम्पनी को 26 करोड़ रुपए हर महीने फ़ायदा पहुंचाना है?’’ 

सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री को इस परियोजना में ‘गड़बड़झाले’ की तत्काल जांच करानी चाहिए.

We Recommend
DO NOT MISS