Politics

शरद पवार ने PM मोदी को लिखा पत्र, संकटग्रस्त चीनी उद्योग के लिए मांगी मदद

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर चीनी उद्योग को संकट से उबारने के लिए मदद मांगी है। कोरोना वायरस महामारी पर काबू पाने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन से उद्योग पर बुरा असर पड़ा है।

पवार ने इस बात का भी उल्लेख किया कि मोदी ने एमएसपी, चीनी निर्यात, बफर स्टॉक और इथेनॉल उत्पादन को बढ़ावा देने जैसी कुछ नीतिगत पहल की हैं। इनमें से कई फैसले मार्च अंत में लागू किए गए लॉकडाउन से पहले लिए गए थे।

पवार ने गुरुवार को भेजे अपने पत्र में प्रधानमंत्री से “तत्काल हस्तक्षेप” की मांग की, ताकि लॉकडाउन के कारण संकट का सामना कर रहे उद्योग को उबारा जा सके।

पवार ने ट्वीट किया, “माननीय प्रधानमंत्री के समक्ष पत्र के माध्यम से चिंता जताई और उनसे अनुरोध किया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर अप्रत्याशित ढंग से लागू किए गए देशव्यापी लॉकडाउन के कारण संकटग्रस्त चीनी उद्योग को उबारने के लिए तत्काल हस्तक्षेप करें।“ उन्होंने इसके साथ ही पत्र की एक प्रति भी पोस्ट की।

पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने इस क्षेत्र से संबंधित चिंताओं को उठाते हुए महाराष्ट्र राज्य सहकारी चीनी फैक्टरी महासंघ लिमिटेड के अध्यक्ष का एक पत्र भी संलग्न किया।

ये भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों को भेदभाव का सामना करना पड़ रहा है : शरद

पवार ने कहा कि कोविड-19 संकट दिन प्रतिदिन और बुरा हो रहा है, जिसके संबंध में महासंघ ने कुछ सुझाव दिए हैं।

महासंघ ने निर्यात प्रोत्साहनों और बफर स्टॉक खर्चों की बकाया राशि का भुगतान करने के लिए धन का प्रावधान करने का सुझाव दिया है।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' बनाने का आह्वान पर बोले केंद्रीय मंत्री प्रताप चंद्र सारंगी- 'यह राष्ट्र चेतना को जगाने वाला अमृत'