Politics

एमपी कांग्रेस ने आर्थिक पैकेज पर उठाए सवाल, कहा- कम से कम GDP का 50% तो दीजिए

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

कोरोना महामारी के बीच देश की अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है। वही अब मध्य प्रदेश कांग्रेस ने इसपर सवाल उठाए हैं। मध्य प्रदेश कांग्रेस की तरफ से एक ट्वीट में पैकेज की धनराशी को बढ़ाने की बात कही गई है। बता दें, आर्थिक पैकेज भारत की जीडीपी के 10 फीसदी के बराबर है। वही कांग्रेस पार्टी ने मांग की है कि आर्थिक पैकेज को कम से कम जीडीपी का 50 प्रतिशत करना चाहिए।

ट्वीट में लिखा गया है कि, 'केवल 20 लाख करोड़..? मोदी जी, ये महामारी है, सब कुछ चौपट हो चुका है। जीडीपी का केवल 10% नहीं, कम से कम जीडीपी का 50% तो दीजिये।'

वही इससे पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश ने भी आर्थिक पैकेज पर सवाल उठाया था। उन्होंने आर्थिक पैकेज को 'जुमला' बताया है। इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ये 'सबका विश्वास' के नारे के साथ 'विश्वासघात' है।

वही कोरोना संकट से अपने-अपने देश की अर्थव्यवस्था को उभारने के लिए अन्य देशों ने भी आर्थिक पैकेज की घोषणा की है। एक डाटा के मुताबिक, जापान ने अपनी GDP का 21.1 प्रतिशत राहत पैकेज के तौर पर दिया है। वही अमेरिका की बात करें तो अमेरिका में कोरोना से सबसे ज्यादा कहर देखने को मिल रहा है। ट्रंप सरकार ने अपनी जीडीपी का 13.3 फिसदी हिस्सा राहत पैकेज के तौर पर दिया है। ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो उन्होंने करीब 10.8 प्रतिशत और जर्मनी ने अपनी जीडीपी का 10.7 फिसदी हिस्सा राहत पैकेज के तौर पर दिया है।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि 'ये पैकेज आत्मनिर्भरता को और मजबूत करेगा। ये पैकेज उद्योग के लिए है। आज समय की मांग है कि भारत ग्लोबल सप्लाई चेन में अहम भूमिका निभाए।' PM मोदी ने कहा है कि इस आर्थिक पैकेज से लघु-मंझोले उद्योग, कुटीर उद्योग, श्रमिक, किसान को फायदा पहुंचेगा। इसके साथ ही भारतीय उद्योग जगत को भी एक नई ताकत मिलेगी।