Politics

छिंदवाड़ा में लगे 'कमलनाथ-नकुलनाथ लापता' के पोस्टर, कांग्रेस बोली- आरोपियों के खिलाफ हो कार्रवाई

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

कोरोना महामारी के लिए लगे देशव्यापी लॉकडाउन के बीच मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ एवं उनके सांसद बेटे नकुलनाथ के लापता होने के पोस्टर लगे हैं और उनके इस गढ़ में इन दोनों नेताओं को लाने वाले व्यक्ति को 21,000 रूपये इनाम देने का ऐलान किया गया है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ छिंदवाड़ा विधानसभा सीट से विधायक हैं, जबकि उनके बेटे नकुलनाथ वर्ष 2019 से छिंदवाड़ा लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

छिंदवाड़ा शहर के विभिन्न स्थानों पर इन दोनों नेताओं की फोटो लगे पोस्टरों में लिखा है, 'गुमशुदा की तलाश। छिन्दवाड़ा के विधायक एवं सांसद को इस संकट काल में छिन्दवाड़ा की जनता ढूंढ रही है। जो इन्हें छिंदवाड़ा लेकर लाएगा, उसे 21,000 रुपये का नगद इनाम दिया जायेगा।' साथ ही इन पोस्टरों में बॉलीवुड फिल्म ‘दुश्मन’ का गाना लिखा है, 'चिट्ठी ना कोई सन्देश, जाने वो कौन सा देश, जहाँ तुम चले गए।' पोस्टर के सबसे नीचे लिखा है, 'प्रकाशक — समस्त मतदाता छिंदवाड़ा विधानसभा एवं लोकसभा।' इन पोस्टरों को मंगलवार सुबह देखने के बाद स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता छिन्दवाड़ा स्थित कोतवाली पुलिस थाने पहुंचे और वहां थाना प्रभारी विनोद कुशवाह को ज्ञापन देकर दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की।

वहीं, कोतवाली थाना प्रभारी विनोद कुशवाह ने बताया कि शहर में सांसद और विधायक के पोस्टर लगे हुए हैं जिसको लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आपत्ति जताते हुए ज्ञापन दिया है। मामले को संज्ञान में लेकर विस्तृत जाँच की जाएगी और नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

इसी बीच, भाजपा नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी भाजपा नेता पंकज चतुर्वेदी ने 'पीटीआई—भाषा' को भोपाल में बताया, 'कमलनाथ एवं नकुलनाथ इन दिनों कोरोना वायरस के खतरे के बारे में ढेर सारा ज्ञान तो दे रहे हैं, लेकिन जमीनी स्तर पर इन दोनों नेताओं ने इस महामारी से परेशान लोगों के लिए कुछ काम नहीं किया है। समस्या यह है कि कमलनाथ आजकल कांग्रेस में चल रही अंदरूनी लड़ाई को लड़ने में व्यस्त हैं। इसलिए उन्हें छिन्दवाड़ा जाने का समय ही नहीं है। वे तभी अपने निर्वाचन क्षेत्र में जाते हैं, जब चुनाव होते हैं।' वहीं, मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा, 'जो भाजपाई कमलनाथ व नकुलनाथ को छिन्दवाड़ा से लापता बता रहे हैं, वो यह बता दें कि इस महामारी में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधनी कितनी बार गये? कितने भाजपा के केंद्रीय मंत्री अपने इलाक़ों में गये?'

उन्होंने कहा, 'अभी लॉकडाउन चल रहा है। सभी नियमों का पालन कर रहे हैं। कमलनाथ एवं नकुलनाथ अपने क्षेत्रों में जनता से सम्पर्क में हैं। हमारे नेताओं के खिलाफ भाजपा का यह कुप्रचार है।' सलूजा ने आगे कहा, 'शिवराज और उनके मंत्री तो प्रदेश के कोरोना वायरस प्रभावित एक भी रेड ज़ोन जिले तक में नहीं गये।' मालूम हो कि पिछले सप्ताह कांग्रेस मध्यप्रदेश युवक कांग्रेस के प्रवक्ता सैयद सऊद हसन सहित कुछ कांग्रेस नेताओं ने भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के उनके निर्वाचन क्षेत्र से गायब होने के बारे में सोशल मीडिया फेसबुक में एक पोस्टर ‘‘गुमशुदा की तलाश’’ लगाया था और कहा कि जो लोग सांसद को भोपाल लेकर आते हैं और उन्हें जनता के काम में लगाते हैं उन लोगों को जनता दिल से शुभकामनाएं देगी।