Politics

VIDEO: लालू के लाल तेजप्रताप-तेजस्वी में मनमुटाव की खबरों को बहन मीसा यादव ने स्वीकारा, ऐसे बयां की सच्चाई..

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

बिहार की राजनीति के सबसे ताकतवार कहे जाने वाले आरजेडी प्रमुख लालू यादव के परिवार के दोनों बेटे तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव के आपसी मतभेद अक्सर मीडिया के सामने आते रहते हैं, लेकिन समय समय पर वो इन खबरों का खंडन करते रहते हैं. लेकिन इस जंग में एक ओर किरदार की एंट्री हुई है, वो हैं लालू यादाव की सबसे बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती. 

दोनों भाईयों में पार्टी में हैसियत को लेकर मनमुटाव की बात को मीसा ने स्वीकारा है. मीसा भारती ने पटना के पास मनेर में इस बात को स्वीकार किया कि दोनों भाईयों के बीच में मनमुटाव चल रहा है . 

बता दें,  मनेर में मीसा भारती लिट्टी चोखा पार्टी में शामिल होने गई थी . वहां लोगों को संबोधित करते हुए मीसा ने कहा कि पार्टी को हमेशा झेलना पड़ता है. कोई सामने बोलता नहीं है. सब पीठ पीछे खंजर से वार करते हैं. एक महिला हूं लेकिन  लोगों के बीच में यह कहना चाहती हूं कि अगर कोई मुझसे झांसी की रानी की तरह लड़ेगा तो उससे मैं झांसी की रानी की तरह लड़ूंगी. लेकिन कोई पीठ में खंजर से वार करेगा तो उसे बर्दाश्त नहीं करूंगी.  

यह भी पढ़ें- राजनीति वर्चस्व के लिए लालू दोनों लाल के बीच मतभेद की खबरों पर तेजप्रताप ने लगाया विराम..

उन्होंने आगे कहा कि चाहे वो पार्टी के कार्यकर्ता हो या आप खुद को मजबूत कर लिजिए. विपक्ष हमेशा हमें तोड़ने की कोशिश करती है. अब समय आ गया है कि हम एकजुट हो. मनमुटाव किस में नहीं होता.  हाथ की पांचों उंगलियां बराबर नहीं होती है. थोड़ा बहुत मनमुटाव कहां नहीं होता है. हमारे घर भाई- भाई में मुटाव है, फिर भी आरजेडी तो बहुत बड़ा परिवार है. वोट की कमी हमें नहीं होगी लेकिन हमें देखना होगी कि कैसे हम इस समेट लें. 

बता दें, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव इस वक्त चारा घोटला केस में सजा काट रहे हैं, ऐसे में उन्होंंने पार्टी की बागडोर अपने बेटों के सपूत कर रखी है. लेकिन राजनीतिक वर्चस्व या कहें पार्टी में खुद को बड़ा दिखाने की इस जंग में दोनों भाईयों को आमने सामने लाकर खड़ा कर दिया. 

 

DO NOT MISS