Politics

'मुस्लिम कार्ड' वाले VIDEO पर कमलनाथ का जवाब, 'धर्म की राजनीति में ये बौखला गए हैं​​​​​​​..'

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने अपने 'मुस्लिम कार्ड' वाले वीडियो पर अब सफाई पेश की है. बता दें, कमलनाथ ने बंद कमरे कहा था कि अगर 90 प्रतिशत मुसलमान कांग्रेस को वोट नहीं देंगे तो पार्टी का बहुत बड़ा नुकसान हो जाएगा. वहीं अब अपने इस वीडियो पर कमलनाथ ने मीडिया से बात करते हुए भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा, 'धर्म की राजनीति में ये बौखला गए हैं. ये वीडियो और व्हाट्सएप की राजनीति पर उतर आए हैं. मुझे इसकी चिंता नहीं है. क्योंकि जनता इन सब बात से प्रभावित होने वाली नहीं है.. सच्चाई सबके सामने है.'

क्या कहा था कमलनाथ ने ?

बता दें, बुधवार को रिपब्लिक टीवी ने कांग्रेसी नेता कमलनाथ का एक वीडियो दिखाया था. जिसमें कमलनाथ खुलकर लोगों के सामने 'मुस्लिम कार्ड' खेल रहे थे. वीडियो में कमलनाथ ने कहा था, 'जहां मुसलमान वोट बैंक हैं वहां कितने प्रतिशत वोट पड़ा.. और अगर वहां 50-60% हुआ तो क्यों हुआ 60%.. 90 प्रतिशत क्यों नहीं हुआ ? इसका पोस्टमार्टम पिछले चुनाव का करना जरूरी है. आप कहें कि करा देंगे 80-90 प्रतिशत वोट. आज अगर 90 प्रतिशत मुसलमान वोट नहीं पड़ा तो हमें नुकसान होगा.. आप 80 की बात कर रहे हैं लेकिन मैं 90 की बात कर रहा हूं. 80 प्रतिशत से भी नहीं चलेगा.. '

शिवराज सिंह चौहान का कमलनाथ पर तीखा हमला- 

रिपब्लिक टीवी के द्वारा दिखाए गए इस वीडियो पर मध्य प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने कहा था, 'क्या इसी को बदलाव का वक़्त कहते हैं? क्या इस पर गुस्सा आता है कि कोई वर्ग विशेष आप को न चुन कर विकास को चुनता हैं? क्या मतदाताओं के विचार व चुनने के अधिकार पर आपराधिक अतिक्रमण करना सही हैं? इसका जवाब पूरा मध्य प्रदेश 28 नवंबर को भाजपा को वोट दे कर देगा.'

इसके साथ ही बैठक में सभा को संबोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने हिंदुओं और आरएसएस को धमकी देने वाले बयान भी दिए थे. कमलनाथ ने कहा था, ''RSS के लोग इन्होंने फैलाए हुए हैं. ..आप, मुझे जानकारी है RSS के जो लोग इन्होंने फैलाए हुए है, मैं तो छिंदवाड़ा की बात करूं, मुझे तो लोग आकर बता देते हैं. उनके RSS क्योंकि नागपुर से जुड़ा हुआ है. यहां तो उनके लिए सुबह आओ, रात में चले जाओ और बड़ा आसान है.'' 

''वो उनका एक ही स्लोगन है, अगर हिंदू को वोट देनी है तो हिंदू शेर मोदी को वोट दो. अगर मुसलमान को वोट देनी है कांग्रेस को दो. केवल दो लाइन और पाठ पढ़ाने नहीं जाते. ये इनकी रणनीति है और इसमें आप लोगों को बड़ा सतर्क रहना पड़ेगा. आपको उलझाने की कोशिश करेंगे. 'हम निपट लेंगे इनसे बाद में' लेकिन मतदान के दिन तक आपको सब-कुछ सहना पड़ेगा कि ये समझ रहे हैं हमारी हालत खस्ता है..''

DO NOT MISS