Politics

महबूबा मुफ्ती ने किया भारत-पाक 'बातचीत' का समर्थन, कांग्रेस ने पूछा PM मोदी से सवाल ..

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत-पाकिस्तान के बीच बातचीत की पहल को लेकर पीएम मोदी को एक चिट्ठी लिखी थी. जिसका भारत की तरफ से सकारात्मक जवाब दिया गया. भारत, पाकिस्तान के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हो गया है. वहीं अब जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस कदम का समर्थन किया है. महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए कहा है कि ''पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के द्वारा दोनों देशों के विदेश मंत्री के बीच मुलाकात की वकालत करना.. काफी अच्छा कदम है.. NDA का कार्यकाल अब अपने आखिरी चरण में है.. देर आए दुरुस्त आए"

जहां एक तरफ महबूबा मुफ्ती भारत-पाक के बीच न्यूयॉर्क में होने वाली मुलाकात का समर्थन कर रहीं हैं वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी ने सीमा पर शहीद हो रहे जवानों को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है.

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि ''पहले हेमराज और अब नरेंद्र सिंह को टॉर्चर करके पाकिस्तानियों के द्वारा उनका मर्डर कर दिया गया .. सैनिक हमारे देश की आत्मा हैं.. हमारे सैनिको को 9 घंटों तक टॉर्चर किया गया..आज मोदी जी कहां पर हैं ? आपके 56 इंच की छाती कहां है ?'' बता दें, बुधवार को पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में BSF के हेड कांस्टेबल शहीद हो गए थे. उनके शरीर पर कई जख्म भी पाए गए थे.

भारत की तरफ से पाकिस्तान के साथ बातचीत की टाइमिंग को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं. जहां एक तरफ पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन किया जा रहा है, भारतीय सैनिकों को निशाना बनाया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ भारत के द्वारा पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए तैयार होना कई सवाल खड़े कर रहा है. 

पाकिस्तान के साथ बातचीत को लेकर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार से जब इस मुलाकात के एजेंडे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था 'हम सिर्फ मीटिंग के लिए तैयार हुए हैं.' इस मुलाकात को हम बस मुलाकात की तरह देखें.. उन्होंने मीटिंग के लिए रिक्वेस्ट की है जिसे हमने स्वीकार किया है.'' 

गौरतलब है कि इमरान खान जब से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने हैं तब से ही दोनों देशों के बीच शांति की वकालत करते कर रहे हैं. लेकिन इमरान खान के ''शांति'' वाले दावे की पोल तब खुल जाती है जब पाकिस्तान के द्वारा सीमापार से भारतीय सुरक्षाबलों को निशाना बनाया जाता है.

DO NOT MISS