Politics

महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला ने की अपील, कहा- ''कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित हो''

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को संयुक्त रूप से अपील जारी कर पूरे देश में सामप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने और केंद्र से अन्य राज्यों में निवास कर रहे कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का अनुरोध किया है।

पुलवामा आतंकी हमले में सेना के जवानों की शहादत के बाद हर कोई आक्रोशित है। सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आतंकवादी हमले के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरियों पर हो रहे हमलों की सूचनाओं की पृष्ठभूमि में यह अपील आयी है।

गौरतलब है कि गुरुवार को हुए हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। लेकिन अब कश्मीर के दोनों नेताओं ने पूरे देश में साम्प्रदायिक सौहार्द बनाए रखने की अपील की।

नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि ‘‘कश्मीरियों पर हमले कर, उन्हें डरा कर हम कश्मीरी युवाओं/बच्चों को परोक्ष रूप से यह बता रहे हैं कि घाटी से बाहर उनका कोई भविष्य नहीं है।’’

नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट करके कहा कि एक संयुक्त अपील में महबूबा मुफ्ती और मैंने देश के कुछ हिस्सों में कश्मीरियों के खिलाफ निर्देशित हमलों की निंदा की है। हमने शांति की अपील करते हैं ताकि हमारे दुश्मनों की नापाक योजनाओं को पराजित किया जा सके जिन्होंने पुलवामा हमले जैसे हमले किए थे।

उन्होंने कहा कि कश्मीरियों को डराने का लक्ष्य भारत के विभिन्न समुदायों के बीच अलगाव पैदा करना है। इसके अलावा महबूबा मुफ्ती ने भी ट्वीट करके कहा कि हमारी ओर से विनम्र अपील है। पुलवामा हमलों के लिए निर्दोष कश्मीरियों को जिम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए।

 

DO NOT MISS