Politics

पाकिस्तान के साथ न्यूयॉर्क में होने वाली मीटिंग को केंद्र सरकार ने किया रद्द: सूत्र

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

पाकिस्तान के द्वारा सीमापार से किए जा रहे कायराना करतूत की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ बातचीत को रद्द कर दिया है. केंद्र सरकार के करीबी सूत्रों ने बताया है कि भारत-पाकिस्तान के बीच न्यूयॉर्क में होने वाली मीटिंग को केंद्र सरकार ने रद्द कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पकिस्तान के विदेश मंत्री मखदूम शाह महमूद कुरैशी के साथ हाथ नहीं मिलाएंगी.

बता दें, बुधवार को पाकिस्तान की तरफ से की गई फायरिंग में BSF के हेड कांस्टेबल शहीद हो गए थे. उनके शरीर पर कई जख्म भी पाए गए थे. इसके साथ ही शुक्रवार को आतंकवादियों द्वारा जम्मू-कश्मीर के शोपियां में तीन पुलिसकर्मियों को अगवा करने के बाद उन्हें मार दिया. इसी को लेकर अब भारत पाकिस्तान के बीच न्यूयॉर्क में होने वाली मुलाकात ठंडे बस्ते में पड़ गई है. 

गौरतलब है कि भारत ने गुरुवार को पाकिस्तान के साथ बातचीत करने को लेकर हामी भरी थी. गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर बातचीत करने का प्रस्ताव रखा था. 

जिसपर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि ''इस समय मैं कन्फर्म कर सकता हूं की हमारे विदेश मंत्री और पाकिस्तान के विदेश मंत्री के बीच न्यूयॉर्क में मीटिंग होगी.'' वहीं जब रवीश कुमार से पूछा गया कि उनका एजेंडा क्या है? इसके जवाब में उन्होंने कहा, 'हम सिर्फ मीटिंग के लिए तैयार हुए हैं.' इस मुलाकात को हम बस मुलाकात की तरह देखें.. उन्होंने मीटिंग के लिए रिक्वेस्ट की है जिसे हमने स्वीकार किया है.'' 

कांग्रेस का मोदी सरकार पर तीखा वार-

इससे पहले कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल ने भी इस मुलाकात पर सवाल उठाए थे. कपिल सिब्बल ने कहा था कि, ''2014 के पहले सुषमा स्वराज ने अपने भाषणों में कहा था कि अगर वो 3 सर काटेंगे तो हम दस सिर काटेंगे.. तो अभी हमारे जवानों के जुलाई में ही दो सर काटे गए.. मैं सुषमा जी से पूछना चाहता हूं कि उनके बयान का क्या हुआ.. क्या वो बयान भी आपका जुमला था.''

इमरान खान ने लिखी थी पीएम मोदी को चिट्ठी-

इमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा था कि हम व्यापार, लोगों के बीच कनेक्ट, धार्मिक टूरिज्म पर बात करना चाहते हैं. उन्होंने कहा था, भारत और पाकिस्तान के बीच चुनौतीपूर्ण संबंध हैं. हम सभी मुद्दों को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाना चाहते हैं. जिसमें जम्मू-कश्मीर विवाद, सियाचिन के मुद्दे को भी सुलझाना चाहते हैं. 

DO NOT MISS