Politics

फ्रांस्वा ओलांद के 'बयान' के बाद मचा घमासान, कांग्रेस ने पूछे BJP से तीखे सवाल ..

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के द्वारा राफेल डील पर दिए गए कथित बयान के बाद देश की राजनीति काफी तेज हो गई है. कांग्रेस ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है. कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं ने ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में ट्वीट करते हुए लिखा कि ''प्रधानमंत्री ने व्यक्तिगत रूप से बंद दरवाजे के पीछे बातचीत की और राफेल डील को बदल दिया. फ्रांस्वा ओलांद का धन्यवाद.. अब हम जानते हैं कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से दिवालिया अनिल अंबानी को अरबों डॉलर का सौदा दिलवाया. प्रधानमंत्री ने भारत को धोखा दिया है. उन्होंने हमारे सैनिकों के खून का अपमान किया है.''

बता दें, फ्रांसीसी मीडिया के मुताबिक फ्रांस्वा ओलांद ने कथित तौर पर कहा है कि भारत सरकार ने 58,000 करोड़ रुपये के राफेल विमान सौदे में फ्रांस की विमान बनाने वाली कंपनी दसॉल्ट एविएशन के ऑफसेट साझेदार के तौर पर रिलायंस डिफेंस का नाम प्रस्तावित किया था और ऐसे में फ्रांस के पास कोई विकल्प नहीं था.

इसी को लेकर अब कांग्रेस पार्टी केंद्र सरकार पर हमलावर हो गई है और सरकार से सवाल पूछ रही है. वहीं कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता ने वीडियो जारी करते हुए मोदी सरकार से तीखे सवाल पूछे. रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ''मोदी सरकार का अब राफेल घोटाले में गड़बड़झाला जगजाहिर हो गया है. कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी लगातार कह रहे थे कि राफेल घेटाले की गड़बड़झाले की सुई सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वार पर आकर रुकती है. संसद के पटल पर उन्होंने कहा मोदी जी इधर उधर की बाते मत बनाईए आंखे मिलाइए और सच्चाई बताइए पर मोदी जी बहाने बनाते रहे और आंखे चुराते रहे .. झूठ बोलते रहे झूठ बुलवाते रहे..

इसके साथ ही सुरजेवाला ने कहा, 'अब फ्रांस के राष्ट्रपति ने पूरे मामले का भांडाफोड कर दिया .. अब जगजाहिर है कि HAL सरकारी कंपनी से 30 हजार करोड़ का ठेका छीनकर मोदी जी ने उधोगपति मित्र को दिलवाया था..'

''मोदी जी अब तो सच्चाई बताईए.. अब तो जगजाहिर कीजिए क्योंकि झूठ का पर्दाफाश हुआ और सच्चाई उजागर हुई. अब ये साफ है कि चौकीदार भागीदार नहीं असली गुनहगार है.. देश जवाब मांग रहा है.''

गौरतलब है कि कांग्रेस सड़क से लेकर संसद तक राफेल डील में 'कथित भ्रष्टाचार' को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधती रही है. वहीं अब ये देखने वाली बात होगी कि भाजपा इस पूरे मामले पर क्या जवाब देती है.

DO NOT MISS