Politics

GST पर अरुण जेटली ने राहुल गांधी को सुनाई खरी-खोटी, कांग्रेस अध्यक्ष के तर्क को बताया बेवकूफी

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने GST को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा उठाए सवाल पर करारा पलटवार किया है. उन्होंने राहुल गांधी के तर्क को बेवकूफी करार दिया है. 

दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी GST को लेकर कई सवाल खड़े किए थे. जिसपर ट्वीट करके अरुण जेटली ने जवाब दिया है.

अपने ट्वीट में जेटली ने कहा है, 'कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा दिया गया हर तर्क बिल्कुल बेवकूफी वाला आईडिया है. लग्जरी आइटम्स पर लगाए जाने वाले टैक्स को आम आदमी के आइटम पर लगने वाले टैक्स के बराबर नहीं लाया जा सकता है'

इसके साथ ही जेटली ने बताया कि अधिकांश सामानों पर अप्रत्यक्ष कर पर UPA ने 31% की विरासत छोड़ दी थी. GST ने 334 आइटमों को पहले ही 12% और 18% स्लैब घटा दिया है. 31% टैक्स एक दमनकारी विचार नहीं था उस पर एक बेवकूफी थी.

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिपब्लिक टीवी के मंच से GST पर मंगलवार को एक बड़ा ऐलान किया था कि आने वाले समय में 99 फीसदी वस्तुएं जीएसटी 18 फीसदी स्लैब में आ सकती हैं. उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार 99 फीसदी वस्तुओं को 18 फीसदी के स्लैब में लाने पर काम कर रही है.

जिसके बाद राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आखिरकार कांग्रेस पार्टी ने नरेंद्र मोदी जी को गब्बर सिंह टैक्स पर गहरी नींद से जगा दिया. हालांकि वह झपकी ले रहे हैं, अब वह कांग्रेस के उस विचार को लागू कराना चाहते हैं जिसे उन्होंने ‘ग्रैंड स्टुपिड थॉट' कहा था.'' उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी जी, देर आए दुरुस्त आए.

बता दें, देश के सबसे हाई प्रोफाइल इवेंट रिपब्लिक समिट 2018  में PM मोदी ने अपने संबोधन में GST को लेकर सरकार की चुनौतियों और उसको सरल बनाने के कदम का जिक्र किया था.

उन्होंने कहा था, ''मैं एक बहुत महत्वपूर्ण बात भी आपको बताना चाहता हूं आज हम उस स्थिति की तरफ पहुंच रहे हैं जहां 99 प्रतिशत चीजें.. 18 प्रतिशत या उससे कम टैक्स के दायरे में लाई जा सकती हैं. और हम उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं. उसके बाद जो एक आधा प्रतिशत लग्जरी आइटम्स होंगे. वही शायद 18 प्रतिशत के बाहर रह जाएंगे. जिसमें कोई हवाई जहाज खरीद करके लाता है. कोई बहुत बड़ी मंहगी गाड़ियां लाता है. शराब है सिगरेट है ऐसी कुछ चीजें. मुश्किल से 1 परसेंट भी नहीं.''

इसे भी पढ़ें- Republic Summit 2018 के मंच से PM मोदी का बड़ा ऐलान: 99% आइटम को 18% या उससे कम GST के दायरे लाया जाएगा

DO NOT MISS