Politics

स्मृति ईरानी का राहुल गांधी और रॉबर्ट वाड्रा पर चौतरफा हमला, कहा- 'जीजा साला एक साथ मिले हुए हैं'

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

भारतीय जनता पार्टी की नेता और मंत्री स्मृति ईरानी ने रिपब्लिक टीवी के साथ खास बातचीत में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से कई सवाल पूछे हैं. स्मृति ईरानी ने कहा है कि 'राहुल गांधी का अमेठी में विरोध उनके द्वारा दिए गए बयानों के कारण हुआ है. उसके लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं. वहां पर लोगों ने राहुल गांधी का विरोध करते हुए कहा कि आपने सम्राट साइकिल की जमीन चुराई है.. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के ऑर्डर हैं जो राहुल गांधी को कह रहे हैं कि किसानों की जमीन को वापस करिए.'

वहीं प्रधानमंत्री के ऊपर राहुल गांधी के द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर स्मृति ईरानी ने कहा, 'ये पहली बार नहीं हो रहा है कि उनके द्वारा प्रधानमंत्री पर इस तरह की टिप्पणी की गई हो.. इससे पहले उन लोगों द्वारा पीएम को नीच कहा गया था.. उनके द्वारा अनपढ़ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया था.. गवार कहा था. वो कह रहे हैं बड़ा मजा आएगा.. ऐसे शब्दों का इस्तेमाल स्कूल के बच्चे भी नहीं करेंगे.'

''मैं पूछना चाहती हूं कि किसमे मजा नहीं आया ? वेपनाइज्ड एयरक्राफ्ट आज हिंदुस्तान को फ्रांस से 20 प्रतिशत कम दाम पर मिल रहा है आज.. इसलिए राहुल गांधी को मजा नहीं आ रहा..''जीजा साला एक साथ मिले हुए हैं.. जीजा जी को पैसे नहीं पहुंचे इसलिए साले जी को मजा नहीं आया..''

कांग्रेस अध्यक्ष के द्वारा लगाए गए आरोपों पर स्मृति ईरानी ने कहा, 'ऑफसेट पॉलिसी 2005 में बनी तब प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी नहीं मनमोहन सिंह थे और UPA की अध्यक्ष सोनिया गांधी थीं. 2007 में राफेल को खरीदना है इसका निर्णय मनमोहन सिंह की सरकार ने लिया तब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं थे. राफेल डील को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली और निर्मला सीतारमण ने सभी बिंदुओं को संसद में और संसद के बाहर रखा है लेकिन राहुल को फैक्ट में रुचि नहीं है..'

''राहुल गांधी से पूछिए की जीजा जी के घर में लंदन में बाथरूम में टोटी लगनी है उसके लिए पैसा क्या उनसे आने वाला था.. टाइल लगनी है उसके लिए पैसा क्या उससे आने वाला था.. इसलिए आज मोदी से नाराज हैं कि जीजा जी के हाउस बिल्डिंग में अब योगदान नहीं रहा है.. नेशन बिल्डिंग में योगदान हो रहा है.''

वहीं कांग्रेस राफेल मुद्दे को लेकर JPC बनाने की मांग कर रही है. कांग्रेस पार्टी ने इस मामले में CVC को चिट्ठी भी लिखी है. कांग्रेस का कहना है कि जल्द ही इस पूरे मामले में सच्चाई आएगी. 

वहीं रिपब्लिक टीवी के पास 100 पन्नों के दस्तावेज हाथ लगे हैं. जिसमें रॉबर्ट वाड्रा और उनके दोस्त संजय भंडारी और सुमित चड्ढा के बीच बातचीत का पूरा ब्यौरा है. रॉबर्ट वाड्रा के ऊपर आरोप लगे हैं कि उन्होंने राफेल डील में अपने दोस्त संजय भंडारी को फायदा दिलाने के लिए तत्कालीन UPA सरकार से लॉबिंग की थी. जिसके एवज में रॉवर्ट वाड्रा को संजय भंडारी से फेवर्स लिए थे.

DO NOT MISS