Politics

राहुल गांधी ने कहा, 'मोदी की नीतियों से लाखों लोग बेरोजगार हुए'

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में बेरोजगारी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि जीएसटी और नोटबंदी के चलते लाखों लोग बेरोजगार हो गए. कांग्रेस अध्यक्ष ने शनिवार को यहां एक चुनावी सभा को संबोधित किया और कुछ दिन पहले राजस्थान के चार युवाओं द्वारा कथित तौर पर बेरोजगारी से परेशान होकर एक साथ आत्महत्या करने की घटना का जिक्र किया. 

राहुल ने कहा, ‘‘इन चार युवाओं ने आत्महत्या करके (मुख्यमंत्री वसुंधरा) राजे और मोदी को संदेश दिया है कि आप हिंदुस्तान को रोजगार नहीं दिला पाए .. हमारे लिए इस देश में भविष्य नहीं बचा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी, वसुंधरा जी युवाओं के मन की बात सुनिए उनके मन में सिर्फ एक सवाल है उनको रोजगार दीजिए.’’ मोदी सरकार की जीएसटी और नोटबंदी जैसी पहलों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस सरकार ने नए रोजगार नहीं दिए और नुकसान भी कर दिया.

गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान के सामने, राजस्थान के सामने दो सबसे बड़ी समस्याएं हैं...युवाओं को रोजगार और किसानों को एक अच्छा भविष्य दिलाना. ये दोनों काम देश के सामने एक प्रकार से चुनौती हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी सरकार इस पर ध्यान देगी और किसानों की कर्जमाफी तथा सबको मुफ्त ईलाज इस दिशा में एक कदम है.

इससे पहले इस सभा को पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन गहलोत ने भी संबोधित किया. कांग्रेस नेता रैली में उमड़ी भीड़ से उत्साहित दिखे.

इससे पहले पीएम मोदी पर तीखा हमला करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर हिंदूत्व का मतलब नहीं पता होने का आरोप लगाया. अपने बयान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर होते हुए राहुल गांधी ने कहा, ''हिंदुत्व का महत्व क्या है. मोदी जी आप कृपया हिंदुत्व के बारे में पढ़ें. गीता में लिखा है कि हर किसी के पास ज्ञान है. ज्ञान यहां हर किसी के पास है. ज्ञान इनके पास.. उनके पास.. सबके पास.. हर जीव के पास ज्ञान है.. और हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं कि मैं हिंदू हूं. और जो हिंदूत्व की नींव है उसे नहीं समझते हैं. किस प्रकार के हिंदू हैं ? उन्हें ये मालूम नहीं है कि हिंदुत्व क्या होता है. वो हर चुनाव में हिंदू कार्ड खेलते हैं. ''

DO NOT MISS